boltBREAKING NEWS
  • जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की प्रदेश के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- दोषियों को बख्शेंगे नहीं
  • भीलवाड़ा : जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने लोगों से की शांति की अपील, बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान  
  • भीलवाड़ा : एसपी आदर्श सिधू ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- पुलिस का सहयोग करें और कानून व्यवस्था बनाए रखें 
  •  

शहर में पत्थर मारकर प्रौढ़ की हत्या, आधे घंटे में डिटेन कर लिये गये तीन आरोपित

शहर में पत्थर मारकर प्रौढ़ की हत्या, आधे घंटे में डिटेन कर लिये गये तीन आरोपित

 भीलवाड़ा बीएचएन। शहर की अंबेडकर कॉलोनी में मामूली बात को लेकर सिकलीगर परिवार के बीच झगड़े में पत्थरों से किये हमले में प्रौढ़ की मौत हो गई। कोतवाली पुलिस ने हत्या के इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुये आधे घंटे के अंतराल में तीन लोगों को डिटेन कर लिया, जिन पर हत्या के आरोप लगे हैं। उधर , इस वारदात से इलाके में दहशत के साथ सनसनी फैल गई। पुलिस डिटेन किये तीनों लोगों से पूछताछ कर रही है।
पुलिस अधीक्षक आर्दश सिद्धू ने बताया कि सोमवार शाम 6.49 बजे कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि अम्बेडकर कोलोनी में सिकलीगर लौहार परिवारों में झगड़े में एक घायल व्यक्ति राजेश 45 पुत्र रमेश सिकलीगर को निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई। आरोपी  घटनास्थल से भाग गये है। सिद्धू ने बताया कि अम्बेडकर कोलोनी में  राजेश लौहार एवं आरोपी दिलीप लौहार के परिवार की महिला और बच्चो में दोपहर  में करीब तीन बजे झगड़ा हुआ था। इसकी सूचना बलराम ने शाम को घर आने पर   राजेश को दी। राजेश, उलाहना देने पास ही में अपने बहनौई दिलीप के घर गया । जहां उसकी बहन इन्द्रा ने भी उससे झगड़ा किया।   राजेश वहां से  वापस आकर अपने घर के बाहर खड़ा था। इसी दौरान आरोपी रवि ने बड़े से पत्थर से राजेश को मारने की कोशिश की पर बलराम के खींचनें पर वह बच गया। इसके बाद बलराम व उसके के पिता राजेश, आरोपितों के पीछे भागे । इसी दौरान गली के नुक्कड़ पर  आरोपितों ने घेरकर पत्थरों से वार किया। इसके चलते  मौके पर ही राजेश अचेत होकर गिर पड़ा। परिजन राजेश को अस्पताल ले गये जहां डॉक्टरों ने राजेश को मृत घोषित कर दिया।
इस पर एएसपी  मुख्यालय सुश्री ज्येष्ठा मैत्रेयी के निर्देशन में वृत्ताधिकारी शहर  नरेन्द्र दायमा के नेतृत्व में कोतवाली थाना प्रभारी सूर्यभान सिंह, प्रतापनगर थाना प्रभारी राजेन्द्र गोदारा, एएसआई आशीष मिश्रा साईबर प्रभारी, दीवान नारायण लाल,  हैडकांस्टेबल सत्यकाम सिंह , सत्यनारायण , कांस्टेबल समय सिंह ,  भुपेन्द्र ,  समुन्द्र सिंह, चालक शिवराज सिंह की टीम का गठन किया । पुलिस ने शव को एमजीएच की मोर्चरी में रखवाया है। आरोपियों की पुलिस ने  तलाश शुुरु की। पुलिस ने तकनिकी सहायता व सूत्रों के  सहयोग से डेढ़ घंटे के अंतराल में पुलिस ने आरोपित दिलीप, रवि, श्याम उर्फ श्यामलाल को डिटे किया जाकर मामले में पूछताछ की जा रही है।