boltBREAKING NEWS
  •   दिन भर की वीडियो न्यूज़ देखने के लिए भीलवाड़ा हलचल यूट्यूब चैनल लाइक और सब्सक्राइब करें।
  •  भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ पोर्टल डाउनलोड करें भीलवाड़ा हलचल न्यूज APP पर विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे विजय गढवाल  6377364129 advt. [email protected] समाचार  प्रेम कुमार गढ़वाल  [email protected] व्हाट्सएप 7737741455 मेल [email protected]   8 लाख+ पाठक आज की हर खबर bhilwarahalchal.com  

छात्रा ने स्टेज पर शिक्षक को जड़ा थप्पड़, ग्रामीणों ने सबके फोन करवाए थे जब्त

 छात्रा ने स्टेज पर शिक्षक को जड़ा थप्पड़, ग्रामीणों ने सबके फोन करवाए थे जब्त

धौलपुर. कौलारी थाना इलाके के सरकारी स्कूल में तैनात एक शिक्षक पर छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप लगे थे. स्थानीय पंच पटेलों की ओर से तालिबानी तरीके से सजा सुनाने की घटना सामने आई है. आरोपी शिक्षक को प्रार्थना सभा के दौरान सैकड़ों विद्यार्थियों और ग्रामीणों के सामने स्टेज पर खड़े कर दंडित किया गया.

दरअसल, छात्रा के परिजनों और गांव के पंच पटेलों ने स्टाफ और प्रार्थना सभा में उपस्थित छात्र-छात्राओं की मौजूदगी में स्टेज पर छात्रा और शिक्षक को बुलाया. बताते हैं कि पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार शिक्षक ने अपनी गलती को लेकर जैसे ही छात्रा के पैर छुए तो छात्रा ने इस दौरान शिक्षक को एक के बाद एक कई थप्पड़ जड़ दिए. छात्रा की ओर से थप्पड़ मारे जाने के दौरान प्रार्थना सभा में सन्नाटा पसर गया. हैरानी की बात यह है कि मामले में पुलिस प्रशासन को जानकारी होने के बावजूद किसी ने भी इस मामले में कोई कार्रवाई और एक्शन नहीं लिया है. ऐसे में स्कूल के अंदर हुई इस घटना से पढ़ाने वाले अन्य शिक्षकों में डर का माहौल बना हुआ है.

घटना के वीडियो-फोटो बनाने से पंच पटेलों ने रोका : शुक्रवार को स्कूल प्रांगण में प्रेयर के दौरान विद्यार्थियों के सामने अध्यापक को दंडित करने से पहले छात्रा के परिजनों ने स्कूल के स्टाफ से व सभी विद्यार्थियों की तलाशी लेकर मोबाइल फोन स्टेज पर ही रखवा दिए, जिससे कि घटना के वीडियो और फोटो साक्ष्य नहीं बने और वायरल नहीं हो सके. पूरी घटना को प्री प्लानिंग के साथ अंजाम दिया गया. मामला सप्ताह पूर्व का बताया जाता है.

प्रैक्टिकल के दौरान की थी छेड़खानी : आरोप है कि प्रैक्टिकल के दौरान अध्यापक ने 12वीं की छात्रा से खेलकूद कक्ष के पास छेड़खानी कर दी. छात्रा के साथ छेड़छाड़ की बात स्कूल में फैली तो आरोपी अध्यापक छात्रा के घर पहुंचने से पहले ही उसके परिजनों के पास पहुंच गया और अपनी गलती की माफी मांगी. इस दौरान छात्रा के परिजनों की ओर से अध्यापक की पिटाई किए जाने की जानकारी भी सामने आ रही है.

हम किसी के हाथों को रोक लें क्या ? : स्कूल के प्रधानाचार्य ने घटना से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि घटनाक्रम से उनका कोई लेना-देना नहीं है. खुद अध्यापक ने अपनी गलती के लिए माफी मांगने का आग्रह किया था. अध्यापक विद्यालय स्तर की जांच कमेटी में दोषी पाया गया था. मामले के संबंध में हमने जिला शिक्षा अधिकारी और ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को अवगत करा दिया था. अध्यापक को चांटे मारने वाली बात पर प्रिंसिपल ने कहा कि हम किसी के हाथों को रोक लें क्या ? अध्यापक ने छात्रा के पैर छुए तो उसकी आंखों से आंसू आ गए और उसने भावावेश में थप्पड़ जड़ दिए.

स्थानीय है शिक्षक : स्कूली छात्रा से छेड़छाड़ और बदतमीजी का मामला सप्ताह भर से तूल पकड़े हुए था. अध्यापक के स्थानीय होने के कारण छात्रा पक्ष के लोग और अध्यापक के बीच मामले को रफा-दफा करने के लिए पंचायत भी हुई, लेकिन छात्रा और परिजनों के अड़ जाने और शिकायत करने के बाद मामला शिक्षा विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में आया, जिसके बाद तीन सदस्य जांच कमेटी गठित की गई. प्रिंसिपल ने बताया कि छात्रा ने जांच कमेटी के सामने अध्यापक को विद्यालय से हटाने की मांग माने जाने पर लिखित में राजीनामा दिया है.

जांच उच्च अधिकारियों को भेजी गई : अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी महेश शर्मा ने बताया कि सरकारी स्कूल में छात्रा के साथ एक अध्यापक की ओर से छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया था. पीड़िता समेत अन्य विद्यार्थियों के बयान लिए गए हैं. तीन सदस्यीय जांच कमेटी ने जांच कर शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों को प्रेषित कर दी है. शिक्षा विभाग की ओर से मामले में कार्रवाई की जाएगी.

परिजनों ने नहीं कराया मुकदमा दर्ज : कक्षा 12वीं की छात्रा के साथ अध्यापक की ओर से छेड़छाड़ किए जाने की घटना इलाके में सुर्खियों में है. मामला पुलिस की संज्ञान में भी आया था. पुलिस के उच्च अधिकारी पीड़िता के घर भी पहुंचे थे. पुलिस ने परिजनों से समझाइस कर मामला दर्ज कराने के लिए भी कहा था, लेकिन परिजन लोक-लाज व बदनामी के भय से पुलिस कार्रवाई से पीछे हट गए.