boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

आमजन के सहयोग से ही कोरोना के खिलाफ जंग जीती जा सकती है- जिला कलक्टर

आमजन के सहयोग से ही कोरोना के खिलाफ जंग जीती जा सकती है- जिला कलक्टर

चित्तौड़गढ़ (हलचल)। जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर जिला कलक्टर के के शर्मा और जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने सोमवार को ग्रामीण विकास सभागार में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिले में कोरोना को लेकर वर्तमान स्थिति एवं संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के बारे में बताया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर के के शर्मा ने कहा कि लोग निरंतर लापरवाह हो रहे हैं जिस वजह से केस बढ़ रहे हैं। कलक्टर ने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है, ऐसे हैं हम सभी को सावधानी रखते हुए समस्त उपाय जैसे मास्क लगाना, सेनेटाईजर का उपयोग करना एवं सामाजिक दूरी बनाए रखना आदि का ध्यान रखते हुए इस संक्रमण को रोकना होगा। इसके लिए आमजन की सहभागिता जरुरी है और आमजन के सहयोग से ही यह लड़ाई जीती जा सकती है।

 जिला कलक्टर ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह गंभीरता बरत रहा है, बीते दिनों सैंपलिंग में 30% की बढ़ोतरी की गई है, प्रतिदिन कम से कम 1200-1300 लोगों के सेम्पल लिए जा रहे हैं, रेंडम सेंपलिंग की जा रही है, सुपर स्प्रेडर्स के सैंपल लिए जा रहे हैं, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग बेहद डिटेल में करते हुए हर पॉजिटिव व्यक्ति के पीछे 30 लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं, मोबाइल व्हीकल टीम निरंतर राउंड करके कोरोना रोकथाम के प्रयासों का फीडबैक ले रही है और जिस पॉजिटिव व्यक्ति के पास रहने की जगह नहीं है उसे कोविड केयर सेंटर लाया जा रहा है।

 जिला कलक्टर के के शर्मा ने बताया कि जिले में पहले से ही जॉइंट इंफोर्समेंट टीम यानी जेईटी का गठन किया हुआ है जो कि शहर में भ्रमण कर चालान एवं अन्य कार्रवाई कर रही है। जेईटी का सहयोग करने के लिए एंटी कोविड टीम यानी एसीटी का भी गठन किया गया है जिसमें अध्यापक और बीट कांस्टेबल को रखा गया है। एसीटी लोगों को जाकर कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर की जानकारी दे रहे हैं, एसओपी का पालन करने के लिए मोटिवेट कर रहे हैं और टीकाकरण को लेकर भी लोगों को प्रेरित कर रहे हैं।

 इसी के साथ जिला कलक्टर ने यह भी बताया कि वार्ड वाइज सर्वे के लिए विभिन्न टीमें लगातार काम कर रही है, जिसका पूरा डाटा आने पर हाई रिस्क और आईएलआई लक्षण वाले व्यक्ति चिन्हित हो पाएंगे। इसी के साथ कलक्टर ने बताया कि अंतरराज्यीय सीमाओं पर चेक पोस्ट बनाकर प्रभावी निगरानी की जा रही है, अन्य प्रदेशों से आने वाले लोगों की डिटेल निश्चित प्रारूप में भरवाई जा रही है, जिला कलक्टर ने कहा कि अब माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर भी फोकस करना शुरू कर दिया गया है।

 नई गाइडलाइंस की जानकारी दी

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर के के शर्मा ने बताया कि कोरोना रोकथाम हेतु दिनांक अप्रैल से 19 अप्रैल तक के लिए जारी विशेष गाइडलाइंस जारी की गई है। जिसके अनुसार राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों को राजस्थान में आगमन से पूर्व यात्रा प्रारंभ करने के 72 घंटे के अंदर करवाई गई आरटी पीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी, यदि कोई यात्री नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं करता है तो उसे 15 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया जाएगा, शहरी सीमा क्षेत्र में कक्षा से तक नियमित कक्षा गतिविधियां बंद रहेंगी, कॉलेज के अंतिम वर्ष की कक्षा के अलावा शेष सभी नियमित शिक्षा गतिविधियां बंद रहेंगी, केवल प्रायोगिक कक्षा हेतु विद्यार्थी लिखित अनुमति पश्चात जा सकेंगे। इसी तरह शिक्षण संस्थान के प्रधान या जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा किसी विद्यालय या कॉलेज को कोरोना संक्रमण पाए जाने पर बंद किया जा सकेगा, तो वहीं सिनेमा हॉल्स, थिएटर, मल्टीप्लेक्स, मनोरंजक पार्क बंद रखे जाएंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि इस दौरान स्विमिंग पूल और जिम को खोलने की अनुमति भी नहीं होगी, तो वहीं विवाह सहित विभिन्न आयोजनों में अधिकतम 100 लोगों की सीमा का ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि रात्रिकालीन कर्फ्यू के दौरान रेस्टोरेंट्स से टेक-अवे एवं डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध होगी। कलक्टर ने कहा कि गाइडलाइंस का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी ताकि आमजन को सुरक्षित रखा जा सके। कलक्टर ने बताया कि सभी लोगों को एसओपी का नियमित रूप से पालन करना होगा और अगर ऐसा एरिया या अपार्टमेंट जहां से अधिक संक्रमित व्यक्तियों का समूह चिन्हित किया गया है, उसे माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया जा सकता है।

 महाराष्ट्र से आ रहे लोगों की हो रही प्रभावी निगरानी

जिला कलक्टर ने बताया कि डूंगला एवं मंगलवाड़ में महाराष्ट्र से लोगों के लौट कर आने की सूचना मिल रही है जिस पर टीम को एक्टिवेट कर दिया गया है कि ऐसे लोगों के प्रभावी निगरानी की कर सभी के सेम्पल लेना सुनिश्चित किया जा रहा है। कलक्टर ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि सभी कोरोना गाइडलाइंस का पर्याप्त ढंग से पालन करें, मास्क पहने, सेनेटाईजर का उपयोग करें एवं सामाजिक दूरी बनाए रखें। कलक्टर ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव मरीज पूरी तरह आइसोलेट होकर रहें एवं उसके परिजन भी अनिवार्य रूप से घर में ही रहें।

 पिछले एक साल की मेहनत कहीं मिट्टी में न मिल जाए –एसपी भार्गव

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी दीपक भार्गव ने पिछले एक वर्ष में कोरोना रोकथाम अभियान में सहयोग हेतु आमजन एवं मीडिया का आभार व्यक्त किया। एसपी ने कहा कि कहीं ऐसा ना हो कि पिछले एक साल के मेहनत मिट्टी में मिल जाए। एसपी ने कहा कि हमें नई गाइडलाइन का पालन करना होगा, मास्क, सेनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा। एसपी ने कहा कि अब लोगों में पहले जैसी गंभीरता नहीं रही, जिस वजह से निरंतर केस बढ़ रहे हैं।

 नया स्ट्रेन बेहद तेज़ी से फ़ैल रहा है –पीएमओ

सीएमएचओ डॉ रामकेश गुर्जर ने कोरोना रोकथाम प्रयासों की जानकारी दी। पीएमओ दिनेश वैष्णव ने बताया कि वर्तमान में ग्रोथ रेट के मामले में चित्तौड़गढ़ राजस्थान में तीसरे पायदान पर आ गया है जो हम सभी के लिए चिंताजनक है। पीएमओ ने कहा कि रोज पॉजिटिव आने वाले 60 से 70% लोग चित्तौड़गढ़ शहर से पाए जा रहे हैं, पॉजिटिव केस के मामलों में चित्तौड़गढ़ प्रदेश के टॉप 10 जिलों में है। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर बहुत तेजी से फैल रही है, पहले से दोगुनी रफ़्तार से संक्रमण फैला रही है, बड़े-बड़े अभिनेता चपेट में आ रहे हैं जो सुरक्षा के सभी उपाय अपनाते हैं, ऐसे में कहा जा सकता है कि कोरोना किसी को भी नहीं छोड़ रहा है।

एडीएम ने जिला प्रशासन के प्रयासों की जानकारी दी

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एडीएम भूमि अवाप्ति अंबालाल मीणा ने पत्रकारों को कोरोना रोकथाम हेतु जारी नई गाइडलाइंस की विस्तृत जानकारी दी एवं जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों जैसे धर्मगुरुओं, सामाजिक संगठनों, होटल रिसोर्ट और भोजनालय संचालकों आदि की बैठकों के बारे में अवगत कराया एवं बताया कि सोमवार को ही वीडियो कांफ्रेंस में सभी उपखंड अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में सख्ती करने के निर्देश दे दिए गए हैं। एडीएम ने बताया कि शहर में जिला कलक्टर के निर्देशानुसार पांच मजिस्ट्रेट निगरानी रखते हुए निरंतर चालान काटने एवं ज्यादा लापरवाही होने पर दुकानों को सील करने की कार्रवाई कर रहे हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में एडीएम अंबा लाल मीणा ने सभी पत्रकारों का कोरोना रोकथाम अभियान के दौरान अपार सहयोग हेतु आभार व्यक्त किया एवं आमजन से सहयोग की अपील की।

 एसपी ने दिया कार्रवाई का विवरण

एसपी दीपक भार्गव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोरोना रोकथाम अभियान के तहत की गई कार्यवाही का विवरण दिया। एसपी ने बताया कि जिले में अब तक होम क्वारंटाइन के नियमों का उल्लंघन करने वाले कुल 482 व्यक्तियों पर कार्रवाई की गई, लॉकडाउन लागू होने 22 मार्च 2020 से अब तक समस्त शीर्षकों में कुल 154 एफआईआर दर्ज कर 345 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, धारा 151 के इस्तगासों की संख्या 217 रही, धारा 151 में 445 को गिरफ्तार किया गया। इसी प्रकार से राजस्थान महामारी अध्यादेश 2020 के तहत 1 मई 2020 से अब तक सार्वजनिक स्थान पर मास्क नहीं पहनने वाले 12,765 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 26,39,70 रुपए का जुर्माना वसूल किया गया। बिना मास्क पहने व्यक्तियों को सामान बेचने वाले 307 दुकानदारों के चालान काट 1,53,500 रुपए की जुर्माना राशि वसूली गई। कुल मिलाकर राजस्थान महामारी अध्यादेश 2020 के तहत कुल 51,312 के खिलाफ कार्रवाई कर 66,39,800 रुपए की जुर्माना राशि वसूल की गई।

 जिला कलक्टर ने बताया- बढती पोज़िटिविटी रेट चिंताजनक

जिला कलक्टर के के शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए बताया कि दिसंबर में 2336 सैंपल लिए गए, जिनमे 1179 पॉजिटिव पाए गए, पॉजिटिविटी रेट 5.05 रही। इसी प्रकार जनवरी माह में 14,278 सैंपल लिए गए, 255 पॉजिटिव पाए गए और पॉजिटिविटी रेट महज 1.79 रही। तो वहीं फरवरी में 10,164 लोगों के सैंपल लिए गए, इसमें 73 लोग पॉजिटिव पाए गए और पॉजिटिविटी रेट 0.72 रही। लेकिन मार्च महीने में 14,970 सैंपल लिए गए जिसमें 525 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए और पॉजिटिविटी रेट 3.51 रही। कलक्टर ने कहा कि देखा जा सकता है कि बीते दिनों अचानक ही पोजिटिविटी रेट में बढ़ोत्तरी हुई है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये रहे मौजूद

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर केके शर्मा, एसपी दीपक भार्गव, एडीएम भूमि अवाप्ति अम्बालाल मीणा, तहसीलदार शिव सिंह, सीएमएचओ डॉ रामकेश गुर्जर, पीएमओ दिनेश वैष्णव, आयुर्वेद चिकित्साधिकारी लवकुश पराशर, पीआरओ प्रवेश परदेशी आदि मौजूद रहे।