boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

युवक ने मां भाई की हथोड़े से वार कर ली जान, पिता व दो भाई की बची जान

युवक ने मां भाई की हथोड़े से वार कर ली जान, पिता व दो भाई की बची जान

अजमेर । जिले के भिनाय कस्बे में कल देर रात  एक युवक ने  अपनी मां और छोटे भाई की  हथौडे से वार कर हत्या कर दी। वही पिता और तीन भाई भी हमले में घायल हो गये। अमरचंद्र जांगिड़ (25) रीट परीक्षा की तैयारी कर रहा था।

युवक ने इस वारदात को क्यों अंजाम दिया यह अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। फिलहाल, पुलिस पारिवारिक कलह को कारण मान रही है। 

पुलिस ने बताया कि जिस परिवार में यह खूनी वारदात हुई, वह फर्नीचर बनाने का काम करता है। मां-पिता गांव में रहते थे, जबकि बाकी सभी भाई परिवार में एक साथ रहते थे। एक दिन पहले ही सभी भाई गांव आए थे। बुधवार देर रात आरोपी अमरचंद्र अपने कमरे से बाहर निकला। उसने बिजली का कटआउट निकालकर घर की लाइट बंद कर दी। इसके बाद मां कमला देवी (60) के कमरे में गया। उनके सिर में हथौड़ा मारकर उनकी हत्या कर दी। इसके बाद छोटे भाई शिवराज (22) के कमरे में गया और उसके भी सिर में हथौड़ा मारकर हत्या कर दी।

इस दौरान शोर-शराबा हो गया। आरोपी को रोकने के लिए दूसरे कमरों में सो रहे पिता रामधन (65) और तीन अन्य भाई भागचन्द, ओमप्रकाश व ताराचन्द दौड़े। लेकिन आरोपी ने उन पर भी हमला कर दिया। वह उन सभी की हत्या करना चाहता था। हथौड़े के हमले में तीनों घायल हो गए। इस दौरान मुहल्ले के कुछ लोग जग गए और शोरशराबा हो गया। इसके बाद आरोपी मौके से भाग गया।

" />

भिनाय का मकान, जहां वारदात अंजाम दी गई

रात को पूरा परिवार खाना खाकर सोया था
भिनाय के कस्बे में हुई इस वारदात का कारण किसी के समझ में नहीं आ रहा है। बताया जाता है कि रात में परिवार के सभी लोग आराम से खाना खाकर सोए और कोई विवाद वाली बात नहीं थी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

" />

कमला देवी (60), मृतक।

" />

घायल ताराचन्द

जयपुर में ही रहते थे पांचों भाई
जानकारी के अनुसार आरोपी व उसके चारों भाई जयपुर में रह रहे थे और अभी हाल ही में गांव लौटे थे। आरोपी अमरचन्द रीट की तैयारी कर रहा था और मृतक शिवराज भी जयपुर में पढ़ाई करता है। अमरचंद और शिवराज दोनों की ही अभी शादी नहीं हुई है। पिता गांव में फर्नीचर बनाने का काम करते हैं। वहीं, तीनों अन्य भाई जयपुर में रहकर यहीं काम करते हैं। इनमें से दो भाई शादीशुदा हैं। वारदात के बाद अजमेर से एफएसएल की टीम भी मौके पर पहुंची और साक्ष्य जुटाए। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

" />