boltBREAKING NEWS

कोशिथल के प्रौढ़ को बंधक बना चेन व नकदी लूटने और 3.70 लाख की फिरौती वसूलने के मामले में महिला सहित दो गिरफ्तार

कोशिथल के प्रौढ़ को बंधक बना चेन व नकदी लूटने और 3.70 लाख की फिरौती वसूलने के मामले में महिला सहित दो गिरफ्तार

  भीलवाड़ा बीएचएन । जिले के कोशिथल गांव के एक प्रौढ़ को चिकनी-चुपड़ी बातें कर जाल में फांसने और हमीरगढ़ बुलाने के बाद गंगरार ले जाकर बंधक बना सोने की चेन व 30 हजार रुपये लूटने के साथ ही पीडि़त की रिहाई के बदले उसके भाई से  3.70 लाख रुपये  वसूलने के मामले में रायपुर पुलिस ने एक महिला सहित दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।   

रायपुर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह के अनुसार, मुकदमे में गिरफ्तार आरोपितों में किशनगढ़ क्षेत्र अजमेर निवासी शिवराज नायक व भीलों का खेड़ा, पहुंना निवासी बसंती भील को गिरफ्तार किया था। दोनों को तफ्तीश के बाद न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। थाना प्रभारी का कहना है कि इस मामले में मुख्य आरोपिता बसंती की बड़ी बहन लक्ष्मी उर्फ संतोष उर्फ कमला सहित तीन और आरोपितों की तलाश है।  घटनाक्रम के अनुसार,  घटना 20 जुलाई को कोशिथल में रहने वाले 45 वर्षीय डालचंद माली केसाथ हुई थी। उन्होंने बताया कि बोरिंग के कमीशन एजेंट के रुप में काम करने वाले डालचंद की घटना से 15-20 दिन पहले से एक महिला से फोन पर बात हो रही थी। महिला ने चिकनी चुपड़ी बातें कर 20 जुलाई को डालचंद को हमीरगढ़ बुलाया। इसके चलते वह बाइक लेकर वहां चला गया। हमीरगढ़ में यह महिला, डालचंद को मिल गई।

 खरीददारी करवाने के बाद ले गई थी कमरे पर  
 दोनों में बातचीत हुई। इसके बाद महिला ने डालचंद से नये कपड़े दिलवाने के लिए कहा। इस पर डालचंद ने उसे हमीरगढ़ बाजार से कपड़े दिलवाये। इसके बाद यह महिला, डालचंद को गंगरार थाना सर्किल में मेडीखेड़ा स्थित किराये के मकान पर ले गई। 

 लूटे नकदी व गहने, और मांगे 3.70 लाख रुपये  
रात दस बजे करीब दो-तीन लोग आये और महिला के इस कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया। बाद में इन लोगों ने डालचंद से 5 लाख रुपये की मांग की। इसके साथ ही इन लोगों ने डालचंद से दो तोला सोने की चेन और उसकी जेब में रखे 30 हजार रुपये छीन लिये। 

 जीवित देखना चाहते हो तो...
आरोपितों ने डालचंद को धमकी दी कि रिहाई के बदले 3 लाख 70 हजार रुपये और देने होंगे। इस पर डालचंद से आरोपितों ने उसके भाई नाथू को फोन करवाया। डालचंद ने भाई नाथू से कहा कि उसे जीवित देखना चाहते होतो 3 लाख 70 हजार रुपये लेकर गंगापुर पुलिया के नीचे आ जाओ। 

आगे से आगे बुलाते रहे...
नाथू अपने साथ दो-तीन लोगों को लेकर गंगापुर पुलिया के नीचे पहुंचा, लेकिन उसे वहां कोई नहीं मिला। इसके बाद संपर्क किया तो आरोपितों ने नाथू को रुपये लेकर कारोई पुलिया बुलाया, लेकिन वहां भी नाथू को कोई नहीं मिला। वहां से उसे गंगरार बुलाया। 

गंगरार में थर्ड पार्टी को दिलयाये पैसे
नाथू लाल राशि लेकर गंगरार पहुंच गया। जहां किसी पंजाबी ढाबे के नजदीक बदमाशों ने यह राशि किसी थर्ड पार्टी को दिलवा दी। सुबह साढ़े छह बजे राशि देने के बाद बंधक डालचंद को रिहा कर दिया। 

रिहा होकर पहुंचे नाथू ने दी पुलिस को दी सूचना
आरोपितों के चंगुल से निकला डालचंद गंगरार टोलनाका क्षेत्र में पहुंचा, जहां उसे पुलिस मिली। डालचंद ने आपबीती पुलिस को बताई। पुलिस जब तक आरोपितों के ठिकाने पर पहुंची तब तक वे फरार हो चुके थे। इन लोगों में दो महिलायें व दो पुरुष शामिल थे। इनके पास बिना नंबरी बोलेरो भी थी।