boltBREAKING NEWS

VIDEO सुगम नहीं है मोक्ष धाम का रास्ता, 4 फीट पानी से होकर ले जानी पड़ रही है शव यात्रा

VIDEO सुगम नहीं है मोक्ष धाम का रास्ता, 4 फीट पानी से होकर ले जानी पड़ रही है शव यात्रा

जहाजपुर- दिनेश पत्रिया
जहाजपुर उपखंड क्षेत्र भंडारिया ग्राम में मोक्षधाम जाने के लिए रास्ता सुगम न होने के कारण लोगों को अंतिम संस्कार के लिए भी ग्रामीणों को परेशान होना पड़ रहा है। आज भी महिला के अंतिम संस्कार के लिए लोगों को शव को पानी से होकर गुजरना पड़ा। लोेगों का कहना है कि ग्रामीणों को आये दिन इस समस्या से सामना करना पड़़ रहा है पर पंचायत व उपखंड प्रशासन ने अब तक सुनवाई नहीं की है। 
आजादी के 75 वर्ष होने के बाद भी भंडारिया ग्राम में मोक्षधाम का रास्ता सही न होने तथा क्षतिग्रस्त पुलिया के कारण रास्ते में 4 फीट तक भरे पानी से शव को लेकर नहीं गुजर पाने से लोगों में आक्रोश व्याप्त है। इन लोगों ने कहा है कि चुनाव में वोट के लिए भी सभी प्रयास किये जाते है पर ऐसे मामले में सुनवाई नहीं हो रही है। 
आज उपखंड क्षेत्र के भंडारिया ग्राम में देखा गया। जहां गांव की ही महिला ग्यारसी देवी मीणा का निधन हो गया था। जिसके शव को दाह संस्कार के लिए परिजन श्मशान घाट ले जाने लगे तभी बीच रास्ते में पुलिया क्षतिग्रस्त होने व पानी भरा होने से महिला का शव कई घंटों तक घर में ही पडा रहा।
भंडारिया निवासी पूर्व पंचायत समिति सदस्य गणेश मीण व पूर्व सरपंच ब्रम्हा लाल मीणा ने बताया कि श्मशान घाट जाने वाले रास्ते पर बीच में पुलिया क्षतिग्रस्त होकर टूट गई है। जिससे बरसात का सारा पानी आम रास्ते में भर गया। इस संबंध की शिकायत ग्रामीणों द्वारा कई बार प्रशासन व ग्राम पंचायत को की गई परंतु आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।
वही घंटों इंतजार के बाद परिजन महिला ग्यारसी देवी मीणा के शव को बीच रास्ते में कमर के ऊपर तक भरे पानी से ले जाकर श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया। ग्रामीणों ने प्रशासन से क्षतिग्रस्त पुलिया एवं बीच रास्ते में भरे पानी की निकासी की मांग की है।