boltBREAKING NEWS

VIDEO देर रात बेवजह बाहर घूमने वालों से होगी पूछताछ, हर घटना को सांप्रदायिक रंग न दिया जाए - जिला पुलिस अधीक्षक

VIDEO देर रात बेवजह बाहर घूमने वालों से होगी पूछताछ, हर घटना को सांप्रदायिक रंग न दिया जाए - जिला पुलिस अधीक्षक

भीलवाड़ा ।

जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक शुक्रवार को जिला कलक्टर आशीष मोदी की अध्यक्षता और जिला पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू की मौजूदगी मेे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। बैठक में जिला कलक्टर ने जिले में आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की।
कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिला कलक्टर  मोदी ने समस्त शांति समिति सदस्यों को जिले में हमेशा शांति और भाईचारे का वातावरण बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोई भी असामाजिक तत्व जिले में वातावरण बिगाड़ने की कोशिश करें तो, इसकी सूचना तत्काल पुलिस और प्रशासन को दें। उन्होंने जिले में हमेशा अमन और चैन का वातावरण बनाए रखने में शांति समिति के सदस्यों को महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि कोई भी कानून व्यवस्था को बिगाड़ता है तो संबंधित पर तत्काल कार्यवाही की जाएगी।
इस दौरान कहीं कोई असामाजिक तत्व अवांछित गतिविधि करेगा तो सख्ती से निपटेंगे। उन्होंने समिति सदस्यों का आह्वान किया कि पूरी निगरानी रखें और निष्पक्ष रहें, अगर कोई व्यक्ति सोशल मीडिया अर्थात व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब इत्यादि पर आपत्तिजनक पोस्ट भेजता है या शेयर करता है, तो उस व्यक्ति के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी। इस तरह की हरकत करने वाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
बैठक में जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने शांति समिति सदस्यों से जानकारी ली और सुझाव आमंत्रित किए। इस पर शांति समिति की सदस्य डॉ जगदीश खटीक ने बताया कि जिले में शांति और सौहार्द वातावरण और आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए समाज में प्रभुत्व रखने वाले लोगो को चिन्हित किया जाए और किसी तरह की घटना होने पर उनके द्वारा समझाइश की जाए तथा समय-समय पर युवा शक्ति की काउंसलिंग भी की जाए तथा जिला शांति समिति के सदस्यों कि संख्या बढ़ाने की बात भी रखी गई।
बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू ने कहा कि भीलवाड़ा जिले में सभी धर्म और वर्ग सदैव ही सौहार्द के साथ रहते है और यही इस जिले की विशेषता भी है। उन्होंने समस्त सदस्यों से जिले में शांति, सौहार्द और आपसी भाईचारे का वातावरण बनाए रखने में अग्रणी भूमिका निभाने का भी अनुरोध किया।
एसपी आदर्श सिद्धू ने सभी धार्मिक संगठनों से कहा कि कुछ गैर कानूनी होने पर पुलिस को बताएं, शरारती तत्वों से सख्ती से निपटा जाएगा। पुलिस का पूरा सहयोग करें और सौहार्दपूर्ण आयोजन कर भीलवाड़ा की परम्परा को कायम रखें। माकूल पुलिस बंदोबस्त किए जा रहे है। हर घटना को सांप्रदायिक रंग न दिया जाए। उपद्रव फैलाने वाले असामाजिक तत्वों की पहचान कर नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
उन्होंने अपील करते हुए कहा कि परिवार वाले बच्चों का ध्यान रखे, अगर कोई बेवजह देर रात बाहर घूमता है तो यह घर वालो का दायित्व है कि उन्हें रोके। अगर पुलिस द्वारा उन्हें किसी गैरकानूनी कार्य को करते हुए पाया जाता है तो उन पर सख्त कार्यवाही भी की जाएगी।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) उत्तमसिंह शेखावत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री ज्येष्ठा मैत्रेयी, उपखंड अधिकारी ओमप्रभा सहित शहर के सभी थानाधिकारी और समस्त शांति समिति के सदस्य उपस्थित रहे।