boltBREAKING NEWS

यह कैसा दिलासा: शराब की दुकान हटाने को लेकर मीटिंग में नहीं हुआ फैसला, कोतवाल मांग रहे चर्च का रजिस्ट्रेशन

यह कैसा दिलासा: शराब की दुकान हटाने को लेकर मीटिंग में नहीं हुआ फैसला, कोतवाल मांग रहे चर्च का रजिस्ट्रेशन

भीलवाड़ा हलचल न्यूज
भीलवाड़ा में शराब की दुकानों का विरोध अब मुखर होने लगा है। इसी क्रम में रविवार को कृषि मंडी के सामने खुले ठेके के विरोध में लोगों ने जाम तक लगा दिया। इसमें सबसे बड़ी बात यह रही कि शराब ठेेकेदार को कुछ कहने के बजाय कोतवाल ने चर्च के पदाधिकारियों से चर्च के रजिस्ट्रेशन के दस्तावेज तलब कर लिए। प्रदर्शन के दौरान मौके पर पहुंचे कोतवाल भी केवल आश्वासन देने के बाद वहां से निकल गए। हालांकि लोगों के आक्रोश को देखते हुए प्रशासन ने शराब ठेेके को फिलहाल बंद करा दिया है।
इस संबंध में स्थानीय क्षेत्रवासियों के अलावा पार्षद और अन्य लोगों ने तीन दिन पहले जिला कलेक्टर सहित आबकारी अधिकारी को ज्ञापन देकर ठेके को अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग की थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई तो लोग आंदोलन पर मजबूर हो गए और आक्रोश में आकर रविवार को कृषि मंडी के सामने जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आश्वासन देकर जाम खुलवा दिया। हालांकि लोग अभी संतुष्ट नहीं हैं और वे यहां से ठेके को परमानेंटली हटाने की मांग कर रहे हैं। इस संबंध में दोपहर एक बजे प्रदर्शन करने वाले लोगों को कलेक्ट्रेट बुलाया गया लेकिन वहां भी केवल आश्वासन के अलावा कुछ नहीं हुआ।