boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे bhilwarahalchal@gmail.com
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

जब खुद पर दुःख पड़ता है, तब ही दर्द का एहसास होता है– जिला कलक्टर

जब खुद पर दुःख पड़ता है, तब ही दर्द का एहसास होता है– जिला कलक्टर

चित्तौड़गढ़ (हलचल)। "जब खुद पर दुःख पड़ता है, तब ही दर्द का एहसास होता है... हम अच्छे से प्रयास करें तो लोगों को बचा सकते हैं..." ठीक यही मार्मिल अपील जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने वीसी के दौरान जिलेभर से उपस्थित रहे अधिकारियों के सामने की। जिला कलक्टर ने कहा कि उन्होंने कभी अपने जीवन में ऐसी त्रासदी नहीं देखी। जिला कलक्टर ने कहा कि सिर्फ आदेश निकालने से काम नहीं चलेगा, ग्राउंड पर उसका क्रियान्वन भी सुनिश्चित करना पड़ेगा और हमारी ग्राउंड मशीनरी को प्रभावी ढंग से कार्य करना पड़ेगा। जिला कलक्टर गुरुवार को वीसी कक्ष में जिलेभर के अधिकारियों से विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संवाद कर रहे थे।

जिला कलक्टर ने वीसी में पहले सभी उपखंड के उपखंड अधिकारियों, तहसीलदार, पुलिस उपाधीक्षक, बीसीएमओ सहित अन्य अधिकारियों से कोरोना रोकथाम को लेकर रिपोर्ट ली। उपखंड अधिकारियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया और आवश्यक सुझाव दिए। कुछ उपखंड अधिकारियों ने लोगों में जागरूकता की कमी की समस्या से अवगत कराया तो किसी ने कोरोना रोकथाम हेतु जारी प्रयासों की जानकारी दी।

वीसी में जिला कलक्टर ने एक-एक बिंदु पर बारीकी से चर्चा कर निर्देश दिए कि शादी समारोह का भौतिक सत्यापन करे, यह केवल पेपर औपचारिकता न बन कर रह जाए, इसके लिए ग्राउंड मशीनरी को एक्टिवेट करें, तब ही कोरोना को रोक पाएंगे। कलक्टर ने निर्देश दिए उपखंड अधिकारी और पुलिस उपाधीक्षक प्रतिदिन अपने क्षेत्र में राउंड करे। कलक्टर ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री निरंतर कोरोना रोकथाम को लेकर कार्य कर रहे हैं और पूरी सरकार इसके लिए चिंतित है, लोगों की जान बचाना ही सरकार की पहली प्रायरिटी है।

जिला कलक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि आरटीपीसीआर लेब में दो नई मशीनें आ जाने से अब महज़ दो-तीन दिन में ही रिपोर्ट आने लगी है। उन्होंने कहा कि अधिकारी गाँव-गाँव बन रहे कोविड केयर सेंटर में इतनी अच्छी व्यवस्था करें और ऐसा माहौल तैयार कि लोग घरों से ज्यादा वहां आना पसंद करे, क्योंकि संक्रमित व्यक्ति घर में रह कर परिजनों को भी संक्रमित करेगा और संक्रमण फैलाएगा।

एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह ने वीसी में मौजूद पुलिस अधिकारियों से पहले कोरोना रोकथाम को लेकर की जा रही कार्रवाई को लेकर फीडबेक लिया। उन्होंने निर्देश दिए कि पुलिस अधिकारी समझाइश करे और आवश्यक होने पर सख्ती भी करे। उन्होंने कहा कि कोरोना रोकथाम को अपनी पहली प्राथमिकता दें। उन्होंने पुलिस द्वारा निरंतर लापरवाह लोगों के खिलाफ चालान काटने की कार्रवाई को लेकर अधिकारियों की प्रशासन भी की। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से अपील कर कहा कि कोरोना के टीके की दूसरी डोज़ भी आवश्यक रूप से लगवाएं, ताकि आप खुद भी सुरक्षित रह कर कार्य कर सकें।

गाँव-गाँव कोविड केयर सेंटर खुलने से आएँगे सकारात्मक परिणाम

जिला कलक्टर ने गादोला का उदाहरण देते हुए बताया कि जब उन्होंने गादोला का दौरा किया तो लोगों ने गाँव के बाहर स्थित कोविड केयर सेंटर आने से मना कर दिया। इस पर उन्होंने गाँव में ही कोविड केयर सेंटर खोल दिया जिससे गाँव वाले वहीँ भर्ती होने लगे, इसका परिणाम रह हुआ कि समय से उनकी निगरानी और इलाज हुआ और अधिकाँश स्वस्थ होकर घर चले गए। उन्होंने कहा कि गाँव-गाँव कोविड केयर सेंटर की परिकल्पना साकार हो गई तो स्थिति में बहुत बदलाव आ जाएगा। जिला कलक्टर ने निर्देश देते हुए कहा कि समस्त पंचायत समितियों और नगर निकायों को बजट दे दिया गया है, इसलिए इसका सदुपयोग करते हुए शीघ्र कोविड केयर सेंटर तैयार करें ताकि रोगी को भटकना न पड़े।

ग्राम स्तरीय समितियों को तुरंत सक्रीय करने के दिए निर्देश

जिला कलक्टर ने बैठक में सीएलजी की नियमित बैठकें करने और ग्राम स्तरीय समितियों को एक्टिवेट करने के निर्देश दिए। कलक्टर ने नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा कि अभी भी कई जगहों पर ग्राम स्तरीय समितियां एक्टिवेट नहीं है, इसलिए इन्हें तत्काल एक्टिवेट करें। जिला कलक्टर ने समस्त ग्राम स्तरीय समितियों की बैठक अनिवार्य रूप से आयोजित कर उन्हें सक्रीय करने के लिए कहा। जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि अधिकारी जन अनुशासन पखवाड़े की सख्ती से अनुपालना सुनिश्चित करवाएं। कलक्टर ने कहा कि जब तक ग्राउंड पर काम नहीं होगा, तब तक हम यह जंग नहीं जीत पाएंगे।

पीएमओ ने कहा- जरूरतमंदों को घर-घर वितरित करें मेडिकल कीट

वीसी में पीएमओ डॉ दिनेश वैष्णव ने कहा कि कोरोना महामारी विकराल रूप ले चुकी है, इस बीच कई गांवों और कस्बों में कोविड केयर सेंटर खुलने के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं, निम्बाहेडा और गादोला इसका उदाहरण हैं, अगर सभी ने मिल कर गाँव-गाँव कोविड केयर सेंटर तैयार कर लिए तो चित्तौड़ पूरे प्रदेश के लिए मिसाल बनेगा। उन्होंने कहा कि घर-घर सर्वे करें और आईएलआई लक्षण वाले समस्त व्यक्तियों को मेडिकल किट घर पर ही वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जब हम मन से इसके लिए जुटेंगे तब ही कोरोना को रोक पाएंगे। उन्होने कहा कि जब भी किसी कोरोना रोगी की जान जाती है, उन्हें बहुत दुःख होता है। मरीज गम्भीर हालत में जिला अस्पताल पहुंचते हैं, तब तक उसकी हालत बहुत खराब हो चुकी होती है। अगर समय से सीएचसी या पीएचसी लेवल पर उसे समुचित इलाज मिल जाए तो उसकी जान बच सकती है। उन्होने कहा कि चित्तौड़गढ़ में लोग समझदार हैं, आप उन्हें सही जानकारी दें, जागरूक करें, तो वे भी प्रशासन का निश्चित रूप से सहयोग करेंगे।
वीसी में ये रहे मौजूद

वीसी में जिला कलक्टर ताराचंद मीणा, एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह, एडीएम रतन कुमार, एडीएम अम्बालाल मीणा, आरएए एवं य़ूआईटी सचिव सी डी चारण, नगरपरिषद आयुक्त रिंकल गुप्ता, जिला रसद अधिकारी विनय कुमार शर्मा, सीएमएचओ डॉ रामकेश गुर्जर, आरसीएचओ डॉ हरीश उपाध्याय, पीएमओ डॉ दिनेश वैष्णव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। इसके साथ ही समस्त उपखंड के उपखंड अधिकारी, तहसीलदार, पुलिस उपाधीक्षक, बीसीएमओ सहित अन्य अधिकारी वीसी के माध्यम से जुड़े रहे।