boltBREAKING NEWS

अजमेर में रोका तो सड़क पर ही दौड़ पड़े किरोड़ीलाल मीणा, राज्य सरकार पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप

अजमेर में रोका तो सड़क पर ही दौड़ पड़े किरोड़ीलाल मीणा, राज्य सरकार पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप

 राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा अजमेर जाना चाहते थे। उन्हें उदयपुर पुलिस ने रोक दिया। इस पर वे अपनी कार से उतरे और दौड़ने लगे। पुलिस भी उनके पीछे-पीछे दौड़ी। कुछ दूर पर उन्हें रोका और समझाइश देकर कार में बिठाया। 
उदयपुर में कांग्रेस का चिंतन शिविर शुक्रवार से शुरू हो रहा है। इस पर किरोड़ीलाल मीणा को गुरुवार को उदयपुर से बाहर निकलने को कहा गया था। जब वे अजमेर को रवाना हुए तो उदयपुर पुलिस ने रास्ते में रोक दिया। वे अजमेर के पुष्कर में जगद्गुरु शंकराचार्य के शिविर में भाग लेने पहुंचना चाहते थे। अजमेर शहर की सीमा पर ही उन्हें रोक लिया गया। मीणा नाराज होकर ब्यावर रोड स्थित कृषि उपज मंडी के बाहर ही कार में बैठे रहे। भारी पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया।
मीणा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह उदयपुर अपने मिलने वालों के यहां बैठने गए थे। एक पत्रकार वार्ता करना चाहते थे, लेकिन उदयपुर पुलिस ने उन्हें जबरन वहां से रवाना किया। मीणा ने राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाया कि राज्य  सरकार उनके अधिकारों का हनन कर रही है। लोकतंत्र की हत्या भी कर रही है। मीणा ने कहा कि मुझे उदयपुर से भगाना था, मैं अब वहां से आ चुका हूं। फिर भी मुझे मेरे आगे के कार्यक्रमों में नहीं जाने दिया जा रहा है। इस वजह से मैं यही बैठा हूं। साथ ही पुलिस के अधिकारियों का लवाजमा भी मौके पर मौजूद रहा। कैमरों को देख मीणा ने कहा- क्या कभी दौड़ देखी है और यह कहते ही वह गाड़ी छोड़कर भागने लगे। पुलिस अधिकारी भी कुछ दूरी तक उनके पीछे भागे ओर उन्हें रोका। मीणा जिद पर अड़े रहे और पुलिस के अधिकारी उन्हें जयपुर जाने के लिए मनाते रहे।