boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app को अपडेट करें
  •  

परिजनों ने शादी कराने से किया इंकार तो युगल ने फांसी लगाकर दी जान

परिजनों ने शादी कराने से किया इंकार तो युगल ने फांसी लगाकर दी जान

उदयपुर। जिले के झाड़ोल उपखंड के फलासिया गांव में परिजनों के शादी कराने से इंकार किए जाने के बाद एक युगल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। दोनों के शव मंगलवार को एक ही रस्सी से रणघाटी के जंगल में पेड़ से लटके देखे गए। फलासिया थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर दोनों परिवारों को पूछताछ के लिए बुधवार को थाने बुलाया है।

मिली जानकारी के अनुसार झाड़ोल उपखंड के घोड़ामारी फलासिया निवासी लक्ष्मण पुत्र सुंदर लाल भगोरा (20) और चंदवास झाड़ोल निवासी अनीता (18) पुत्री प्रभुलाल कसोटा एक-दूसरे को पिछले दो-तीन साल से प्रेम करते थे। दोनों ने एक-दूसरे की शादी की बात अपने-अपने परिवार से की लेकिन दोनों के परिजन इससे सहमत नहीं थे। सुंदर उदयपुर में मजदूरी पर पेंटिंग का काम करता था और अनीता बच्चों और बूढ़े व्यक्तियों के लिए केयर टेकर का काम करती है। सुंदर के मजदूरी करने पर अनीता के परिजन अपनी बेटी की शादी उससे शादी करना नहीं चाहते थे। अनीता तथा सुंदर के कई बार प्रयासों के बावजूद दोनों ही परिजन उनकी शादी के तैयार नहीं हुए और उन्होंने साफ इंकार कर दिया। इसके चलते गत चार मई को दोनों अचानक लापता हो गएदोनों के परिजन उनकी तलाश कर रहे थे। मंगलवार देर शाम रणघाटी के जंगल में ग्रामीणों ने दोनों के शव एक ही रस्सी से लटके देखे। सूचना पर फलासिया थाना पुलिस मौके पर पहुंची तथा उनके शव पोस्टमार्टम के लिए झाड़ोल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाए गए। जहां बुधवार सुबह पोस्टमार्टम कराने के बाद उनके शव परिजनों के हवाले कर दिए। इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और परिजनों को पूछताछ के लिए थाने बुलाया है।इधर, थानाधिकारी नाथूसिंह का कहना है कि घर से लापता होने के बाद सुंदर ने सोमवार को अपने दोस्त को रणघाटी के जंगल से बात की थी और कहा था कि उसका एक्सीडेंट हो गया। जिस पर युवक उससे रणघाटी जंगल पहुंचा जहां उसकी बाइक मिल गई लेकिन वह नहीं मिला। इस बीच परिजन उसकी तलाश कर रहे थे।