boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

उल्टी के डर से पिछले 6 साल से घर के बाहर नहीं निकली महिला, जानिए क्या है बीमारी

उल्टी के डर से पिछले 6 साल से घर के बाहर नहीं निकली महिला, जानिए क्या है बीमारी

एमेटोफोबिया एक खास तरह का डर होता है, जिसमें किसी इंसान को उल्टी से नफरत हो जाती है या डर लगने लगता है। इन लोगों को उल्टी दिखने पर एन्जाइटी होने लगती है या ये लोग खुद को बीमार महसूस करने लगते हैं। कुछ लोगों में यह डर इतना बढ़ जाता है कि उनका पूरा जीवन तबाह कर देता है। एमा नाम की एक 35 महिला इस बीमारी से सालों से जूझ रही है। उल्टी के डर से यह महिला पिछले 6 सालों से घर के बाहर नहीं निकली है।

मुश्किल से ही घर से बाहर निकलती है एमा

एमा का कहना है कि हर इंसान को फोबिया या बीमार होने का डर रहता है, पर जब यह चीज आपके जीवन पर हावी हो जाए और आपको प्रभावित करने लगे तो यह ठीक नहीं है। उन्होंने बताया "मुझ पर डिप्रेशन इतना हावी हो चुका है कि मैं मुश्किल से ही अपना कमरा छोड़ती हूं। इसकी वजह से मैं अपने घर से बाहर नहीं जा पा रही हूं। यह बीमार होने के डर से कहीं ज्यादा है। यह हमेशा मेरे दिमाग में रहता है। यह हर पल मेरे जीवन को बर्बाद कर रहा है।" एमा की बीमारी 12 साल पहले अपने चरम पर पहुंची थी। हालांकि, शुरुआत से ही उन्हें उल्टी पसंद नहीं थी, पर बाद में उनकी यह आदत बीमारी का रूप ले चुकी है।

काम के दौरान भी आते थे पैनिक अटैक

एमा का कहना है "मुझे काम के दौरान पैनिक अटैक आने लगे थे। इस वजह से मैं थोड़ी डर गई थी। ऑफिस जाने के रास्ते में और बस में भी मुझे डर लगता था। मुझे महसूस हुआ कि मुझे काम छोड़ देना चाहिए, पर मेरे लिए यह काफी मुश्किल था। मैने स्कूल छोड़ने के बाद लगातार काम किया था।"

नहीं काम आई कोई दवा

एमा के जीवन में समय के साथ चीजें बदलती चली गई। एक समय ऐसा भी आया जब उन्हें दिन में 6 अटैक आने लगे थे। उन्हें रोजमर्रा के काम करने में परेशानी होती थी, जिन्हें आम लोग बिना किसी परेशानी के करते हैं। एमा का कहना है कि उन्होंने अपने लिए हर तरह का इलाज आजमा लिया है, पर अभी तक उन्हें किसी भी चीज से फायदा नहीं हुआ है।