boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

समवशरण में स्थापित धर्म चक्र एवं ध्वजाओं की पूजा

समवशरण में स्थापित धर्म चक्र एवं ध्वजाओं की पूजा

भीलवाड़ा । ’’रंग-रंगीली यहां ध्वजाएं, लहर-लहर कर फहराती’’ की संगीतमय पुजन के साथ गुरुवार को विद्यासागर वाटिका में आयोजित समवशरण विधान पूजन के पांचवे दिन गंधकुटी की प्रथम कटनी पर स्थापित धर्म चक्र एवं द्वितीय कटनी पर स्थापित ध्वजाओं की पूजा की गई। इसके बाद 24 अर्घ चढाकर दिव्य ध्वनि की पूजन की गई। भगवान का प्रवचन दिव्य ध्वनि के रुप में होता है, जो कि सभी प्राणी अपनी-अपनी भाषा में सुन पाते है। पूजन में नृत्य एवं भक्ति से भाव-विभोर श्रावकों को महाराज ने कहाकि यही भक्ति का आनन्द जीवों को सास्वत आनन्द प्राप्ति में बीज का काम करता है

समवशरण में विराजित होकर प्रवचन के दौरान निर्यापक मुनि विद्यासागर महाराज ने कहाकि जिसके पास कुछ नही होता है, उस पर दुनिया हंसती है। जिसके पास बहुत कुछ होता है, उससे दुनिया जलती है। जिन धर्म वालों को पूर्व जन्मों के पुण्य से जो धर्म मिला है, वह एक सौभाग्य है, यह समझकर धर्मरुपी कील से जुड जाना चाहिए। संसार रुपी चक्की में अनाज रुपी जीव अनन्त काल से पीसता जा रहा है, बस जो धर्म की कील से जुड गया, वह बच गया।  
श्री आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष सुन्दर कोठारी ने बताया कि विधान के दौरान प्रातः 6.30 बजे अभिषेक क्रिया में इम्फाल से आये ज्ञानचन्द महेश कुमार छाबडा ने 108 रिद्धी मंत्रों सहित अभिषेक किया। रमेश चन्द्र दीपक अग्रवाल, महेन्द्र, अर्चित बाकलीवाल, राजकुमार अजितकुमार अग्रवाल ने मुनि ने शांतिधारा की।
सहसचिव खेमराज कोठारी ने बताया कि आज शास्त्रीनगर मेन सेक्टर, सुभाषनगर, आमलियों की बाडी मंदिर के पदाधिकारियों ने आकर मुनि संघ को श्रीफल भेंट कर आर्शीवाद प्राप्त किया। आयोजन समिति ने सभी को पगडी, माला पहनाकर स्वागत किया। रमेश चन्द्र सावित्रि देवी, विकास अर्हम सेठी ने पादपक्षालन किया एवं सुनील कुमार लुहाडिया ने शास्त्र भैंट किये।

संबंधित खबरें