boltBREAKING NEWS
  • जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की प्रदेश के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- दोषियों को बख्शेंगे नहीं
  • भीलवाड़ा : जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने लोगों से की शांति की अपील, बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान  
  • भीलवाड़ा : एसपी आदर्श सिधू ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- पुलिस का सहयोग करें और कानून व्यवस्था बनाए रखें 
  •  

मानसिक आतंकवाद से युवा बचने का प्रयास करें- उपाध्याय 

मानसिक आतंकवाद से युवा बचने का प्रयास करें- उपाध्याय 

शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी 
शाहपुरा में अणुव्रत समिति शाहपुरा के तत्वावधान में शोभा लाइब्रेरी के बेसमेंट में योग दिवस संगोष्ठि का आयोजन किया गया है। इसमें युवाओं को योगा विषय पर खुलकर विचार विमर्श करने का अवसर मिला जिससे युवाओं में उत्साह देखा गया। संगोष्ठि का संचालन माफिया कायमखानी ने किया संगोष्ठि में आयुष गुर्जर, सुरेश जाट, राजेंद्र चैधरी, मनन जैन, पायल धाकड़, माया तिवाड़ी ने अपने विचार प्रस्तुत किए। बाद में सभी से अणुव्रत संकल्प पत्र भरवाए गए।
अणुव्रत समिति के अध्यक्ष एवं सेवानिवृत शिक्षा उपनिदेशक तेजपाल उपाध्याय, भूतपूर्व अध्यक्ष रामस्वरूप काबरा, संचिना कला संस्थान के अध्यक्ष रामप्रसाद पारीक, महामंत्री एवं प्रधानाचार्य सत्येंद्र मंडेला, प्रेस क्लब महासचिव मूलचंद पेसवानी की मोजूदगी में आयोजित समारोह में अणुव्रत समिति के मंत्री गोपाल लाल पंचोली ने स्वागत किया।
संगोष्ठि को संबोधित करते हुए तेजपाल उपाध्याय ने कहा कि आज योगा का जीवन में बहुत ज्यादा महत्व है। युवाओं को मोबाइल व सोशल मीडिया के जरिये मानसिक रूप से झकड़ा जा रहा है। यह एक प्रकार से मानसिक आंतकवाद है। युवाओं को इससे बचना होगा। सोशल मीडिया का उपयोग अच्छे कार्य के लिए होना चाहिए।
प्रधानाचार्य सत्येंद्र मंडेला ने एक गीत के माध्यम से शिक्षा के महत्व को प्रतिपादित किया तथा युवाओं से पूर्ण रूप से मनोयोग रखते हुए अध्ययन पर जोर दिया। रामप्रसाद पारीक ने एक नाटक के जरिये बताया कि जीवन में हंसना और हंसाना बहुत जरूरी है।