boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

प्रेम की जड़ी-बूटी

प्रेम की जड़ी-बूटी

हिमालय की पहाड़ियों में रहने वाले साधु के पास एक महिला पहुंची और बोली, ‘बाबा, मेरा पति मुझसे बहुत प्रेम करता था, मगर युद्ध से लौटने के बाद ठीक से बात तक नहीं करता। लोग कहते हैं कि आपकी जड़ी-बूटी इंसान में फिर से प्रेम उत्पन्न कर सकती है, आप मुझे वो जड़ी-बूटी दे दें।’ संन्यासी बोला, ‘देवी मैं तुम्हें वह जड़ी-बूटी ज़रूर देता, लेकिन उसे बनाने में एक चीज मेरे पास नहीं है।’ वीरांगना बोली, ‘मैं लाऊंगी।’ ‘मुझे बाघ की मूंछ का बाल चाहिए। संन्यासी बोला। महिला बाघ की तलाश में निकली, उसे नदी के किनारे एक बाघ दिखा। बाघ उसे देखते ही दहाड़ा, महिला सहमी व तेजी से वापस लौटी! कुछ दिनों तक यही हुआ। महीने बाद बाघ को महिला की मौजूदगी की आदत पड़ गयी। अब बाघ महिला द्वारा लाया मांस भी चाव से खाता। महिला बाघ को थपथपाने भी लगी। एक दिन उसने हिम्मत दिखाते हुए बाघ की मूंछ का एक बाल भी निकाल लिया। जिसे लेकर संन्यासी के पास पहुंची और बोली, ‘मैं बाल ले आई बाबा।’ संन्यासी ने बाल को आग में फ़ेंक दिया। ‘अरे आपने मेरी मेहनत बर्बाद कर दी मेरी जड़ी-बूटी कैसे बनेगी?’ महिला बोली। ‘अब तुम्हें जड़ी-बूटी की ज़रूरत नहीं है। जब एक हिंसक पशु को धैर्य-प्रेम से जीता जा सकता है तो इंसान को क्यों नहीं? जाओ जैसे बाघ को मित्र बनाया, उसी तरह अपने पति में प्रेम-भाव जागृत करो।’

संबंधित खबरें

welded aluminum boat manufacturers