boltBREAKING NEWS

मरने के बाद घरवालों ने कराई शादी!

मरने के बाद घरवालों ने  कराई   शादी!

कहते हैं सच्चा प्यार कभी नहीं मरता, वह हमेशा अमर रहता है। इसी की एक बानगी देखने को मिली है गुजरात के तापी में। यहां घर वालों ने जब एक प्रेमी जोड़े का प्यार स्वीकार नहीं किया और शादी से साफ़ इनकार कर दिया तो दोनों ने एक साथ मौत को गले लगा लिया। प्रेमी जोड़े ने कथित तौर पर 6 महीने पहले एक-दूसरे को गले लगाते हुए आत्महत्या कर ली थी। उन दोनों की लाश पेड़ पर एक ही फांसी के फंदे पर लटकी मिली थी। लेकिन 6 माह बाद घर वालों को उनके सच्चे प्यार का अहसास हुआ तो उनकी मरने के बाद शादी करवाई गई।अगस्त 2022 में रंजना को पत्नी बनाकर गणेश अपने घर ले आया, जहां परिवारवालों ने इस रिश्ते को अपनाने से इनकार कर दिया

ये अनोखा मामला गुजरात के तापी का है। यहां के नेवाला गांव में रहने वाला गणेश गांव की ही लड़की रंजना से शादी करना चाहता था। अगस्त 2022 में रंजना को पत्नी बनाकर गणेश अपने घर ले आया, जहां परिवारवालों ने इस रिश्ते को अपनाने से इनकार कर दिया और दोनों को घर से निकाल दिया। कुछ देर बाद उन दोनों की लाश पेड़ पर एक ही फांसी के फंदे पर लटकी मिली थी। 

 

जब दोनों जिंदा थे तो उन्हें शादी नहीं करने दी गई।

उनकी मौत के 6 माह बाद परिवारवालों को लगा कि दोनों एक-दूसरे से बेहद प्यार करते थे। लेकिन जब दोनों जिंदा थे तो उन्हें शादी नहीं करने दी गई।
 

 

परिजनों को अपनी भूल का अहसास हुआ और परिजनों ने इस प्रेमी जोड़े की आत्मा की शांति के लिए प्रतीकात्मक तौर पर दोनों की शादी करवाई

परिजनों को अपनी भूल का अहसास हुआ और परिजनों ने इस प्रेमी जोड़े की आत्मा की शांति के लिए प्रतीकात्मक तौर पर दोनों की शादी करवाई।  इसके लिए दोनों के पुतले बनवाए और शादी उसी आदिवासी परंपरा के मुताबिक करवाई गई। 

 

परिजनों ने उनके पुतले बनवाकर बारात निकाली और फिर सात फेरे भी करवाए

परिजनों ने उनके पुतले बनवाकर बारात निकाली और फिर सात फेरे भी करवाए। इसके अलावा पुतलों को पकड़कर विवाह में होने वाली दूसरी रस्में भी पूरी करवाईं।

दोनों ही परिवार के सदस्यों ने उनकी आत्मा की शांति के लिए पुतले बनाकर शादी करवाई है।

लड़की के दादा भीम सिंह पड़वी का कहना है कि लड़का हमारे दूर के परिवार से ही रिश्ता रखता था, जिस वजह से ये शादी नहीं हो सकती थी। ऐसे में दोनों ही परिवार के सदस्यों ने उनकी आत्मा की शांति के लिए पुतले बनाकर शादी करवाई है।