boltBREAKING NEWS

सेना के जवानों ने दिखाया शौर्य, आर्मी चीफ ने चीन को लेकर दिया बड़ा बयान

सेना के जवानों ने दिखाया शौर्य, आर्मी चीफ ने चीन को लेकर दिया बड़ा बयान

 बेंगलुरु में रविवार को सेना दिवस के अवसर पर परेड का आयोजन किया गया। इस दौरान सेना के जवानों ने हैरतअंगेज करतब दिखाए। सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने परेड का निरीक्षण किया। उन्होंने अपने भाषण में सीमा पर चीन के साथ चल रही तनातनी को लेकर बयान दिया। आर्मी चीफ ने कहा कि LAC (वास्तविक नियंत्रण रेखा) पर भारतीय सेना मजबूती से तैनात है। हम किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। उत्तरी सीमा क्षेत्र शांतिपूर्ण रहा है। यहां  स्थापित प्रोटोकॉल और मौजूदा तंत्र के माध्यम से शांति बनाए रखने के लिए कदम उठाए गए हैं। आगे देखें सेना दिवस परेड की तस्वीरें...

पश्चिमी सीमा पर स्थिति का जिक्र करते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम जारी है। संघर्ष विराम उल्लंघन में काफी कमी आई है। हालांकि, सीमा के दूसरी तरफ अभी भी आतंकी ढांचा बना हुआ है।

 

मनोज पांडे ने कहा कि हमारा काउंटर इंसर्जेंसी मैकेनिज्म पाकिस्तान से घुसपैठ की कोशिश को प्रभावी ढंग से नाकाम कर रहा है। जम्मू और पंजाब सीमा क्षेत्रों में ड्रोन के इस्तेमाल से हथियारों और ड्रग्स की तस्करी पर जनरल पांडे ने कहा कि ऐसी गतिविधियों के खिलाफ काउंटर ड्रोन जैमर का इस्तेमाल किया जा रहा है। 
 

 

सेना प्रमुख ने कहा कि पहली बार आर्मी डे परेड और इससे जुड़े अन्य कार्यक्रम दिल्ली के बाहर आयोजित किए जा रहे हैं। इसने सेना को लोगों से जुड़ने का एक सुनहरा अवसर दिया है। मुझे विश्वास है कि इससे हमारे संबंध और भी मजबूत होंगे।
 

 

मनोज पांडे ने कहा कि पिछले साल सेना ने सुरक्षा संबंधी चुनौतियों का दृढ़ता से सामना किया और सीमाओं की सक्रिय और मजबूती से सुरक्षा सुनिश्चित की। सेना ने क्षमता विकास, बल पुनर्गठन और प्रशिक्षण में सुधार के लिए कदम उठाए। हमने भविष्य के युद्धों के लिए अपनी तैयारियों को और मजबूत किया है।
 

 

आर्मी चीफ ने कहा कि कठिन क्षेत्र और खराब मौसम के बावजूद हमारे बहादुर जवान सीमा पर तैनात हैं। उन्हें सभी प्रकार के हथियार, उपकरण और सुविधाएं पर्याप्त मात्रा में दी जा रही हैं। स्थानीय प्रशासन, अन्य एजेंसियों और सेना के संयुक्त प्रयासों से बुनियादी ढांचे के विकास में सुधार हुआ है।
 

 

जम्मू-कश्मीर में सुधार देखा गया है। स्थानीय लोगों ने हिंसा को खारिज कर दिया है। लोगों ने सकारात्मक परिवर्तनों का स्वागत किया है। लोग सभी सरकारी पहलों में उत्साहपूर्वक भाग ले रहे हैं। 
 

  

बेंगलुरु के गोविंदा स्वामी परेड ग्राउंड में परेड के दौरान आर्मी सर्विस कॉर्प्स के टॉरनेडोज टीम ने करतब दिखाए। इस दौरान सेना के विमानों ने फ्लाई-पास्ट किया।

 

75वें सेना दिवस समारोह के दौरान विशेष बल के कमांडो ने मार्च पास्ट किया। पहली बार है कि सेना दिवस परेड दिल्ली से बाहर किया गया। 1949 से दिल्ली छावनी में स्थित करियप्पा परेड ग्राउंड में इसका आयोजन होता आया है।

 

परेड के दौरान स्पेशल फोर्स के कमांडो ने मार्च पास्ट किया। इसके साथ ही एएससी टोरनेडोज टीम द्वारा मोटरसाइकिल स्टंट और पैराट्रूपर्स द्वारा स्काईडाइविंग भी किया गया। 

परेड के दौरान आर्मी एविएशन के हेलीकॉप्टरों द्वारा फ्लाईपास्ट किया गया। इसके अलावा माइक्रोलाइट फ्लाइंग, टेंट पेगिंग, डेयरडेविल जंप, बैंड डिस्प्ले, तायक्वोंडो और अन्य मार्शल आर्ट भी डिस्प्ले किया गया।