boltBREAKING NEWS
  •   दिन भर की वीडियो न्यूज़ देखने के लिए भीलवाड़ा हलचल यूट्यूब चैनल लाइक और सब्सक्राइब करें।
  •  भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ पोर्टल डाउनलोड करें भीलवाड़ा हलचल न्यूज APP पर विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे विजय गढवाल  6377364129 advt. [email protected] समाचार  प्रेम कुमार गढ़वाल  [email protected] व्हाट्सएप 7737741455 मेल [email protected]   8 लाख+ पाठक आज की हर खबर bhilwarahalchal.com  

पड़ोसी देश में कैसे बनेगी नई सरकार? कैद में इमरान के लिए खुशखबरी, नवाज को झटका!

पड़ोसी देश में कैसे बनेगी नई सरकार? कैद में इमरान के लिए खुशखबरी, नवाज को झटका!

 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में चुनाव आयोग ने 336 में से सरकार बनाने के लिए 264 संसदीय सीटों के परिणाम घोषित कर दिए हैं। इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआइ)समर्थित निर्दलीय प्रत्याशियों को 101 सीटें, नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) को 75 सीटें, बिलावल भुट्टो जरदारी पार्टी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) को 54 सीटें और भारत से आए लोगों की पार्टी मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) को 17 सीटें मिली हैं। खुशाब की एनए 88 सीट का चुनाव परिणाम घोषित नहीं किया गया, जबकि एक सीट पर प्रत्याशी की मौत के कारण वहां चुनाव स्थगित कर दिया गया।

 

 

पाकिस्तान में कैसे बनेगी अगली सरकार?

पाकिस्तान चुनाव रिजल्ट में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिलने से त्रिशंकु स्थिति बन गई है। किसी भी पार्टी को अपने दम पर सरकार बनाने के लिए नेशनल असेंबली में पर्याप्त सीटें नहीं मिलने से मामला अब गठबंधन में फंस रहा है। एक तरह जहां सबसे ज्यादा सीटें जीतने वाले इमरान खान सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ गठबंधन सरकार के लिए 75 सीटों वाली पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी और 54 सीटों वाली बिलावल भुट्टो जरदारी की पार्टी अन्य छोटी पार्टियों के साथ बातचीत कर रही है।

 

पाकिस्तान चुनाव रिजल्ट में सीटों का समीकरण

जेल में बंद पूर्व प्रधान मंत्री इमरान खान द्वारा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने सबसे अधिक सीटें जीतीं और वे सरकार बनाने के लिए सहयोगियों के लिए प्रयास भी कर रहे हैं। विधानसभा की कुल 336 सीटों में से 264 सीटों के लिए उम्मीदवार मैदान में थे। इसमें 70 आरक्षित सीटें भी हैं। पाकिस्तान नेशनल असेंबली में क्या होगा, आने वाले दिनों में सदन में क्या होने की संभावना है और पाकिस्तान में कैसे बनेगी अगली सरकार?

* कानून के अनुसार, राष्ट्रीय चुनाव के तीन सप्ताह बाद राष्ट्रपति द्वारा नेशनल असेंबली या संसद के निचले सदन को बुलाया जाता है।लेकिन इसके लिए पहले बैठक बुलाई जाती है।

* फिर सदन का एक नया अध्यक्ष चुना जाता है। इसके बाद वे सदन के नेता या प्रधान मंत्री के चुनाव का आह्वान करते हैं, जिन्हें 336 में से 169 सीटों का बहुमत पेश करना होगा।

* प्रधानमंत्री के लिए कई उम्मीदवार हो सकते हैं। यदि पहले दौर में किसी भी उम्मीदवार को बहुमत नहीं मिलता है तो शीर्ष दो उम्मीदवारों के बीच दूसरी बार वोटिंग होती है। मतदान तब तक जारी रहेगा जब तक कोई एक व्यक्ति बहुमत हासिल करने में सक्षम नहीं हो जाता।

* जब प्रधानमंत्री चुन लिया जाता है तो उन्हें शपथ दिलाई जाती है और फिर कैबिनेट की घोषणा की जाती है। चुनावों की देखरेख के लिए जो कार्यवाहक व्यवस्था बनाई जाती है, वह फिर नई सरकार को सत्ता सौंप देती है।

* पार्टियों को जीती गई सीटों की संख्या के अनुपात में 70 आरक्षित सीटें आवंटित की जाती हैं। 60 सीटें महिलाओं के लिए, 10 गैर-मुसलमानों के लिए। निर्दलीय आरक्षित सीटों के लिए पात्र नहीं होते हैं।

* यदि निर्दलीय आरक्षित सीटें हासिल करना चाहते हैं, तो उन्हें एक ब्लॉक बनाने के लिए किसी अन्य पार्टी में शामिल होना होगा।

* निर्दलीय इसलिए चुनाव लड़ रहे हैं क्योंकि खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को चुनावी कानूनों का उल्लंघन करने के कारण इन चुनावों से रोक दिया गया था।