boltBREAKING NEWS

भारत बना दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ऑटो बाजार, जापान को पछाड़ा

भारत बना दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ऑटो बाजार, जापान को पछाड़ा

साल 2023 भारतीय ऑटो सेक्टर के लिए बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। भारत ऑटो सेक्टर में जापान को पीछे छोड़कर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश बन गया है। ऑटोमोबाइल इंड्रस्ट्री ने साल 2022 में 42.5 लाख नए वाहन बेचे। नेक्कई एशिया ने शुक्रवार को एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी। नए आंकड़ों के मुताबिक, भारत जापान को पछाड़कर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश बन गया है। भारत से आगे चीन और अमेरिका हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में नए वाहनों की कुल बिक्री कम से कम 4.25 मिलियन यूनिट रही, जो जापान के मुकाबले थोड़ा अधिक है। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) के अनुसार, जनवरी और नवंबर 2022 के बीच भारत में कुल 4.13 मिलियन नए वाहनों की डिलीवरी हुई।

केंद्रीय वाणिज्यिक मंत्री पीयूष गोयल ने इसपर खुशी जताते हुए कहा कि भारत अब वैश्विक स्तर पर तीसरा सबसे बड़ा ऑटो बाजार है। उन्होंने एक ट्वीट के जरिए बताया कि 2023 की शुरुआत में एक और शानदार खबर! भारत अब वैश्विक स्तर पर तीसरा सबसे बड़ा ऑटो बाजार है। 2022 में 42.5 लाख नए वाहन बेचे जाने और बिक्री में और भी वृद्धि की उम्मीद के साथ,भारत ऑटो क्षेत्र के लिए वैश्विक केंद्र के रूप में उभर रहा है।

निक्केई एशिया के अनुसार, टाटा मोटर्स और अन्य वाहन निर्माता कंपनियों द्वारा अभी तक जारी किए जाने वाले वर्ष के अंत के परिणामों के साथ-साथ वाणिज्यिक वाहनों के लिए चौथी तिमाही के लंबित बिक्री आंकड़ों को शामिल करने के बाद भारत की बिक्री की मात्रा में और वद्धि होने की उम्मीद है। निक्केई एशिया ने कहा कि पिछले साल भारत में बिकने वाले अधिकांश नए ऑटो में हाइब्रिड वाहनों सहित गैसोलीन द्वारा संचालित वाहन शामिल थे।

आंकड़ो के मुताबिक, साल 2021 में चीन 26.27 मिलियन वाहनों की बिक्री के साथ वैश्विक ऑटो बाजार में टॉप पर रहा. जबकि अमेरिका 15.4 मिलियन वाहनों के साथ दूसरे स्थान पर रहा। उसके बाद 4.44 मिलियन यूनिट्स के साथ जापान का स्थान रहा। निक्केई एशिया ने कहा कि भारतीय ऑटो बाजार में हाल के वर्षों में उतार-चढ़ाव देखा गया  है। साल 2018 में  4.4 मिलियन वाहन बेचे गए।