boltBREAKING NEWS

कोरोना के बाद से अल्जाइमर मरीजों की बढ़ी संख्या, जानें लक्षण

कोरोना के बाद से अल्जाइमर मरीजों की बढ़ी संख्या, जानें लक्षण

कोरोना 19के बाद से ही अल्जाइमर मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है. अब तक भारत में इनकी संख्या 60 लाख से ज्यादा हो गई है. सबसे बड़ी बात यह है कि कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को जिन्हें यह बीमारी है उन्हें इस बात इल्म नहीं है कि वह अल्जाइमर के शिकार है. दरअसल कोरोना काल के दो साल में इसका इलाज सही से नहीं हो पाया जिस वजह से इनकी संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है.

आज 21 सिंतबर के दिन विश्व अल्जाइमर दिवस पर हम आपको इस बीमारी से जुड़ी कुछ ऐसी मुख्य बाते बताने वाले हैं, जिस पर शायद ही आप आम दिनचर्या में गौर करते होंगे, जो कि आगे चलकर गंभीर बीमारी जैसे अल्जाइमर और डिमेंशिया जैसी बीमारी का रूप ले सकती है. वहीं हम आपको इसके लक्षण और बचाव के बारे में भी बताएंगे. 

अल्जाइमर क्या है
सबसे पहले आपको बतादें कि अल्जाइमर में क्या होता है और इसका मतलब क्या है. दरअसल अल्जाइमर बीमारी के अंतर्गत व्यक्ति को भूलने की बीमारी हो जाती है. यह रोग डिमेंशिया का ही एक प्रकार है. जिसमें व्यक्ति की याददाशत और सोचने की क्षमता कम होती जाती है. इसकी वजह से अल्जाइमर के रोगी के दिमाग की कोशिकाओं का विकास होना धीरे धीरे कम होता जाता है और फिर वह चीजों को याद नहीं रख पाता, उसके व्यवहार में बदलाव आने लगते हैं यहां तक कि उसके शारीरिक प्रक्रियाओं को भी नुकसान पहुंचने लगता है.

कैसे शुरू होती है अल्जाइमर की बीमारी
अल्जाइमर की बीमारी एक ही बार में नहीं बल्कि रोगी में धीरे धीरे शुरू होती है. जो आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप ले सकती है. इस बीमारी की शुरुआती लक्षण पर गौर करें तो मरीज को हाल की कोई घटना या बात तक भी ध्यान में नहीं रहती. उसे अपना नाम ना याद रहना, पहचान वालों का पता भूल जाना, रास्ता याद ना रहना और तो और वस्तू का भी नाम भूल जाते हैं. शुरुआत में मरीज चीड़चीड़ा भी हो जाता है.

अल्जाइमर के लक्षण
नेचर में धीरे धीरे बदलाव आना
चीजों को रख कर भूल जाना
प्लेस या पता का याद ना रहना
कोई समस्यरा का हल ना निकाल पाना
रास्ता भटक जाना
तरीख और दिन ना याद रहना
हाल की घटना के बारे में याद ना रहना
सामाजिक चीजों से दूरी बना लेना
अपने कामों को ठीक से पूरा ना कर पाना

अल्जाइमर से बचने के लिए क्या करें
स्वास्थ्य पर ध्यान दें
माइंड गेम्स खेले- जैसे कि शतरंज 
रोज पढ़ें
स्वीमिंग क्लास ज्वॉइन करें
कुछ लिखना शुरू करें
योगाभ्यास करें