विद्युत दुर्धटनाओं को रोकथाम एवं विधुत सुरक्षा नियमों की पालना सुनिश्चित करवाने के लिए श्रमिक संघ ने दिया सुझाव .

विद्युत दुर्धटनाओं को रोकथाम एवं विधुत सुरक्षा नियमों की पालना सुनिश्चित करवाने के लिए श्रमिक संघ ने दिया सुझाव .

भीलवाड़ा बीएचएन। अजमेर विधुत वितरण निगम श्रमिक संघ के जिला महामंत्री नरेश कुमार जोशी ने बताया कि आज अधीक्षण अभियन्ता व कार्मिक अधिकारी द्वारा विद्युत दुर्धटनाओं की रोकथाम के लिए भीलवाड़ा वृत के सभी अधिशाषी अभियंता के साथ अजमेर विधुत वितरण निगम श्रमिक संघ (भामस) भीलवाड़ा की बैठक दोपहर 2 बजे आयोजित बैठक में राजस्थान विधुत श्रमिक महासंघ के प्रदेश उपाध्यक्ष जुम्मा काठात ने हो रही आये दिन विधुत दुर्धटनाओं पर बडे दुख के साथ चिन्ता जाहिर की तथा निम्न सुझाव प्रस्तुत किए।

33/11 के.वी. ग्रिड से 11 के.वी. का शट्डाउन संबंधित आदेश कनिष्ठ अभियन्ता द्वारा दिये जाकर 33/11 के.वी. ग्रिड से 11 के.वी. का प्रत्येक 1 माह में 10 ग्रिड अधिक्षण अभियन्ता, 10 ग्रिड कार्मिक अधिकारी, 10 ग्रिड अधिशाषी अभियन्ता द्वारा औचक निरीक्षण कर सुरक्षा निर्देशों की निगम आदेशानुसार पालना नहीं करने पर संबंधित फर्म के विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही करने 11 के.वी. नई लाईन खडी होने के पश्चात तकनीकी मापदण्ड की जॉच हेतु ई.एस. से चौक करवाकर सत्यापन करवाने के साथ ही क्रासिंग वाली लाइन, डबल लाइन होने पर रेबिट लाईन खिचवाई जाने, प्रत्येक उपखण्डो में तकनीकी कर्मचारी की संख्या के अनुसार प्रत्येक 6 माह में उच्च गुणवत्ता के सुरक्षा उपकरण जैसे- प्लायर, पेचकस, लाईन टेस्टर, लाईन डिडक्टर, अर्थिग चेन, (30 फिट, 45 फिट) हैण्ड ग्लब हेलमेट सेफ्टी बेल्ट देनंे, निगम प्रशासन के निरीक्षण के दौहरान तकनीकी कर्मचारी (फीटर इन्चार्ज) को सुरक्षा उपकरणों के कार्य के दौरान उपयोग नहीं करते पाये जाने पर कार्मिक के विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही करने सहित जिन विधुत खम्बों (एचटी/एलटी) में डबल करंट उपलब्ध है, वहां रिफलेक्टर कलर से डबल करन्ट चौतावनी 33/11 के.वी. ग्रिड से 11 के.वी. ग्रिडो से निकले प्रत्येक फिडर के नाम की पट्टीका, शट्-डाउन के लिए नोटिस पट्टिका, अग्निशमन यत्र, प्राथमिक चिकित्सा बॉक्स, चारदिवारी, प्रर्याप्त रोशनी, सीढी, पानी, ब्रेकर (वी.सी.बी.) जी.ओ.डी.ओ. की उपलब्धता सुनिश्चित करने ठेकेदार द्वारा अकुशल श्रमिक (आई.टी.आई) ही लगाये जाये । सभी ठेेकेदार कर्मचारियों का (एफआरटी, 33/11 केवी) पहचान कार्ड, ईएसआई रजिस्टेªशन ,पीएफ खाते की कटौती सुनिश्चिता से करवाई जाये तथा प्रत्येक 33/11 केवी पर ड्युटी चार्ट लगा हुआ हो जिससे जब भी निगम के अधिकारी निरीक्षण पर रहे तो कर्मचारी की पहचान सुगमता से करने कनिष्ठ अभियन्ता के अधिनस्थ लगी एफआरटी टीमों द्वारा 11 केवी के सभी फिडरो पर भेजकर एच.टी., एलटी, फाल्ट, पेट्रोलिंग करवाना सुनिश्चित करने सभी सहायक अभियन्ता, कनिष्ठ अभियन्ता द्वारा सुरक्षा उपकरणो के अभाव में तकनीकी कर्मचारियो को तकनीकी कार्य हेतु विवश नहीं किया जाना सुनिश्चित कराया जावे यह सुनिश्चित करवाया जाये कि फिर भी कोई अधिकारी विवश होकर कार्य करवाता है तो उक्त अधिकारी के विरूद्व कार्यवाही करने तकनीकी कर्मचारियों को ऑफिस कार्य में न लेकर मूल कार्य फिल्ड में लगाने किसी भी तकनीकी कर्मचारी को बिना अधिशाषी अभियन्ता की स्वीकृति के बिना स्थान परिवर्तित नहीं किया जाये । किसी विषम स्थिति में सहायक के रूप में प्रथम एक माह कार्य अनुभव के उपरान्त ही लगाने सहित ठेका फर्माे के निरीक्षण के दौरान अकुशल श्रमिक पाये जाने पर कनिष्ठ अभियन्ता, सहायक अभियनता के विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाये। साथ ही संबंधित दोषी ठेका फर्म के विरूद्व भी ब्लेक लिस्ट की कार्यवाही करने भीलवाडा वृत्त में तकनीकी कर्मचारियो की कमी के चलते आये दिन विधुत दुर्धटनाऐं हो रही है। अन्य वृत्तों में (जैसे सीकर, झुन्झुनु, अजमेर) आदि वृत्तो में स्वीकृत पदो से भी अधिक कर्मचारी कार्यरत है। इनको भीलवाडा वृत्त में स्थानान्तरण करने के लिए निगम के शीर्ष अधिकारियों से मिटिंग में वार्ता कर समाधान कर सहायक अभियन्ता (एफआईएस) को निर्देशित किया जाये कि प्रत्येक माह के अन्तराल में ग्रिडो पर लगी वीसीबी रिले सेटिंग प्रोपर की जाये।

अधिकांश देखा गया है कि विधुत दुर्धटना होने पर भी वीसीबी ट्रीप नहीं होती जिससे घातक/अघातक/आमजन/पशु विधुत दुर्धटनाऐं हो रही है, जिसे तत्काल प्रभाव से रोकने, संविदा कर्मचारियों को प्रत्येक 6 माह में कनिष्ठ अभियन्ता द्वारा सुरक्षा दिशा निर्देशों सहित विधुत कार्य की ट्रेनिंग देने, ठेका फर्माे में कार्यरत कार्मिको की सूचि उपखण्डों के अनुसार (नाम, योग्यता, कार्यस्थल) कार्मिक अधिकारी, सहायक अभियन्ता, कार्यालयों पर उपलब्ध करवाकर विधुत दुर्धटनाओं में अधिकांश देखा गया कि खराब तंत्र की वजह से विधुत दुर्धटनाऐं घटित हो रही है। इनको सुधार कार्यक्रम के तहत पुनः सुधारा जाये। (जैसे 11केवी क्रॉस लाइन, वीसीबी जियो आदि)

इस मौके पर यूनियन प्रतिनिधि के रूप में प्रदेश उपाध्यक्ष जुम्मा काठात, जिला महामंत्री नरेश कुमार जोशी, कार्यसमिति सदस्य भगवती नाथ योगी आदि उपस्थित थे।

Read MoreRead Less
Next Story