जैन मंदिरों में मनाया श्रुतपंचमी पर्व, शोभायात्रा निकाली

जैन मंदिरों में मनाया श्रुतपंचमी पर्व, शोभायात्रा निकाली

भीलवाड़ा । श्रुत पंचमी के अवसर पर मंगलवार को जैन समाज ने आरके कॉलोनी में जिनवाणी की शोभायात्रा निकाली। आरके कॉलोनी क्षेत्र के मुख्य मार्गों से निकाली गई शोभायात्रा का समापन आरके कॉलोनी स्थित आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में जाकर हुआ।

आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष नरेश गोधा ने बताया कि मंगलवार को सकल दिगंबर जैन समाज की ओर से श्रुत पंचमी पर्व मनाया गया। श्रुत पंचमी के दिन ही मुनि भूतबली एवं पुष्पदंत महाराज ने गिरनार पर्वत की गुफाओं में जिनवाणी को षट्खण्डागम के रूप में लिपिबद्ध करने का कार्य पूर्ण किया था। इस वजह से यह पर्व जैन समाज की ओर से उत्सव के रूप में मनाया जाता है। तरणताल के सामने स्थित आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालु आने लगे थे। अभिषेक व शांतिधारा के बाद मंदिर से शोभायात्रा की शुरुआत हुई। शोभायात्रा की अगवानी जैन समाज की महिलाएं कर रही थी। साथ में चल रहे बैंड से मधुर भजन गुंजायमान हो रहे थे। जैन समाज की महिलाएं निर्धारित वेशभूषा में भजन गाते हुए चल रही थी। वही पुरुष जैन धर्म के जयकारे लगा रहे थे। सबसे अंत में श्रावक अपने सिर पर जिनवाणी को शोभायमान करते हुए चल रहे थे। बड़ी संख्या में महिलाएं भी सुंदर थाली में सजाकर धार्मिक ग्रंथों को लेकर चल रही थीं। जैन समाज के लोग जिनवाणी की वंदना भी करते चल रहे थे। शोभायात्रा आरके कॉलोनी के विभिन्न क्षेत्रों से होते हुए पुनः मंदिर आई।

सचिव अजय बाकलीवाल ने बताया कि दिगंबर जैन मंदिर में श्रावकों ने जिनवाणी माता की विशेष पूजन के साथ शास्त्र भेंट किए गए। शोभायात्रा में महावीर सेठी, एन सी जैन, राजकुमार सेठी, श्रवण कुमार कोठारी, रुपचन्द पहाडिया, सुशील पाटोदी, सुरेन्द्र गोधा, सुभाष हुमड, कमल नयन शाह, मिश्रीलाल अग्रवाल, पींकी शाह, अंजना गोधा, मीना हुमड समेत सैकड़ो लोग शामिल थे।

Read MoreRead Less
Next Story