वंदे भारत की सुरक्षा के ल‍िए रेल पटरी किनारे लगा रहे है बल्लियां

वंदे भारत की सुरक्षा के ल‍िए रेल पटरी किनारे लगा रहे है बल्लियां

भीलवाड़ा। वंदे भारत ट्रेन को पटरियों पर मवेशियों व समाजकंटकों से सुरक्षित रखने में रेलवे व‍िभाग हुआ जुटा है। अजमेर से चित्तौड़गढ़ रेलवे खंड के मध्य पटरी के पास बांस की बल्लियां लगाई जा रही है ताकि मवेशी ट्रैक पर ना आ सके। वंदे भारत के भीलवाड़ा खंड में पटरी पर लगातार दुर्घटनाएं बढ़ रही है। इनसे वंदे भारत ट्रेन को काफी क्षति पहुंची। वंदे भारत की बॉडी फाइबर की है। इस कारण किसी भी वस्तु या जीव के टकराने से बॉडी को नुकसान पहुंचता है। गत छह माह में खंड में कई हादसों में वंदे भारत को सर्वाधिक क्षति पहुंची।

वंदे भारत की गति अभी 110 किमी प्रति घंटा से दौड़ रही है। स्टेशनों के यार्ड के बाहर पटरी पर कोई सुरक्षा बंदोबस्त नहीं होने से मवेशी पटरी पर आ रहे हैं। समाजकंटक व शरारती तत्व ट्रेन पर पथराव तक कर देते हैं। कई जगह अनाधिकृत रास्ते तक बना रखे हैं।

रेलवे अजमेर से चित्तौड़गढ़ खंड के मध्य 181 किमी में अधिकांश हिस्सों में पटरी के दोनों तरफ बल्लियों की बैरिकैडिंग के रूप में लगवा रहा है। यह कार्य भीलवाड़ा यार्ड के साथ ही कई स्थानों पर पूरा कर लिया गया है। यहां भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन से जोधड़ास पुलिया तक बल्लियां दोनों तरफ लगाई जाएगी। इसी प्रकार खास रूप से उन स्थलों को भी चिंहित किया गया है जो पूर्ण रूप से असुरक्षित है जहां पशुओं व आमजन की आवाजाही ज्यादा हो।

Read MoreRead Less
Next Story