नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भारतीय मूल्यों को द‍िया महत्व - अग्रवाल

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भारतीय मूल्यों को द‍िया महत्व - अग्रवाल

भीलवाड़ा। विद्या भारती शिक्षा संस्थान के तत्वावधान में भीलवाड़ा जिले के आचार्य अभ्यास वर्ग के तीसरे दिन मुख्य अतिथि राधेश्याम अग्रवाल, मंत्री, विद्या भारती चित्तौड़ प्रांत रहे कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। परिचय देवराज सिंह राणावत जिला सचिव द्वारा करवाया गया स्वागत विजय सिंह और महेंद्र सिंह प्रधानाचार्य द्वारा किया गया मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए राधेश्याम अग्रवाल ने विषय "राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020" अपने विचार रखते हुए कहा की हम जिस परिवार से जुड़े है, यह परिवार ही अलग है, हम सभी राष्ट्र निर्माण कार्य में लगे हुए है, प्रारंभ में राधाकृष्ण आयोग बना जिन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में नीति बनाई गई फिर 1986 में शिक्षा नीति बनी जो गुलामी को प्रतीक थी फिर 2020 में नई शिक्षा नीति आई और जिसमे भारतीय मूल्यों को महत्व दिया गया|

संविधान के 46 वें संविधान संशोधन के अंतर्गत निशुल्क एवम अनिवार्य शिक्षा व्यवस्था को लागू किया गया और विद्या भारती के विचारो को महत्व दिया गया और इस शिक्षा नीति में मातृ भाषा को ज्यादा महत्व दिया गया है, श्रेष्ठ शिक्षक बनकर शैक्षणिक व्यवस्था में सुधार करेंगे कार्यक्रम का संचालन गणपत सिंह द्वारा किया गया, देवराज सिंह राणावत, जिला सचिव, भीलवाड़ा विद्या भारती शिक्षा संस्थान ने बताया की इस सात दिवसीय व्यस्ततम दिनचर्या वाले वर्ग में प्रशिक्षणार्थियों को स्मार्ट बोर्ड का उपयोग करना, शिक्षा में तकनीकी का उपयोग और भी शैक्षणिक विषयों का प्रशिक्षित विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है साथ ही योग सत्र, संध्या वंदन विभिन्न खेलों आदि का प्रशिक्षण दिया जा रहा है वर्ग का समापन 14 जून को किया जाएगा|

Read MoreRead Less
Next Story