सनातन धर्म को मजबूत करने की जरूरत - मंत्री जोगाराम

भीलवाड़ा (हलचल)। टहुंका में श्रीराम मारूति नंदन नवकुण्डात्मक महायज्ञ और श्री द्वारकाधीश मंदिर दरीबा के अष्ठम पाटोत्सव कार्यक्रम में पशु पालन एवं डेयरी विभाग, गौ पालन विभाग व देवस्थान विभाग केबिनेट मंत्री जोगाराम कुमावत ने कहा कि हम सबको धार्मिक कार्यक्रम में भाग लेना चाहिए। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि हमें सनातन धर्म को मजबूत करने की आवश्यकता है। कई लोग ऐसे है जो सनातन धर्म का विरोध कर इसे कोरोना और एड्स बता रहे है। ऐसे लोगों का दिमाग फैरने के लिए हमें सनातन को बढावा देना है। उन्होंने कहा कि इस तरह मंदिरों का निर्माण करने की और आवश्यकता है। इस मौके पर विधायक अशोक कोठारी व ग्रामीण भी मौजूद थे। इस मौके पर सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया। रतन लाल अहीर का 151 जोड़ों का सामूहिक विवाह सम्मेलन कराने पर सम्मान किया गया।

मंत्री कुमावत का मेवाड़ कुमावत समाज व ग्राम वासियों की ओर से मेवाडी़ पगडी पहनाकर समान किया गया। कुमावत ने अपने उद्बोधन में पशुपालन एवं डेयरी से जुड़ी योजनाओं का जिक्र करते हुए धर्म संस्कृति व आस्था के बारे में बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरपंच दरीबा रतन लाल अहिर ने की विशिष्ट अतिथि अशोक कोठारी ने अपने उद्बोधन में गोरक्षा के लिए लोगों को जागरूक किया। नानी बाई रो मायरो कथा सत्संग में उमड़ा जनसैलाब।सुबह 8 बजे से हरी बोल प्रभातफेरी फेरीयां आने लगी लगभग 151 फेरीयां गांव में भ्रमण करती हुई मंदिर परिसर में पहुंची। जहां कथा श्रवण पान करने के बाद मंदिर ट्रस्ट दरीबा की ओर से सभी भक्तों का दुपट्टा पहनाकर स्वागत किया गया। पार्षद सत्यनारायण कुमावत ने बताया कि कथा उदयपुर से कथा प्रवक्ता पुष्कर दास वैष्णव के मुखारविंद से तीन दिवसीय कथा का समापन हुआ। कथा के माध्यम से मानव जाति में फैल रही कुरितियां व व्यसन मुक्ति का मार्ग बताया है।

इस मौके पर ट्रस्ट उपाध्यक्ष लक्ष्मी लाल कुमावत, ट्रस्ट सचिव नारायण लाल कुमावत,डाल चंद कुमावत,वरिष्ठ पत्रकार मनोहर लाल कुमावत, भंवर लाल कुमावत सुरास,गेहरी लाल कुमावत, युवा जिलाध्यक्ष कुमावत समाज बबलु कुमावत, रामेश्वर लाल मंडोवरा, जिला अध्यक्ष बंशीलाल कुमावत,एडवोकेट शोभागमल कुमावत,राम लाल छापरवाल, पूर्व सरपंच सत्यनारायण विशनोई, बंशीलाल विशनोई,उदयराम तेली,शंकर शर्मा,लादु लाल वैष्णव, प्यार चंद कुमावत,प्रकाश कुमावत,बालु राम कुमावत,छीतर कुमावत,नवल कुमावत आदि उपस्थित थे।

Tags

Read MoreRead Less
Next Story