परिवारिक झगड़े में बीच-बचाव करने गए भाइयों पर चाकू से किया हमला, एक मौत

दिल्ली में गाली-गलौज का विरोध करने पर पड़ोसियों ने दो भाइयों पर चाकू से हमला कर दिया। चाकू के हमले से दोनों भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई। हालांकि मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर इलाके में गाली-गलौज का विरोध करने पर पड़ोसियों ने दो भाइयों पर चाकू से हमला कर दिया। चाकू के कई वार करने के बाद आरोपी वहां से फरार हो गए। जख्मी हालत में दोनों भाइयों को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल ले जाया गया, जहां एक भाई को मृत घोषित कर दिया गया। मृतक की शिनाख्त विक्की सोनी (30) के रूप में हुई है। छोटे भाई रिक्की (27) का अस्पताल में इलाज जारी है। पुलिस ने हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर आरोपी सारांश (22) और इसके पिता प्रदीप (58) को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में इस्तेमाल चाकू भी बरामद कर लिया गया है।

शुरुआती जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि सारांश का अपने परिवार से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद है। मंगलवार रात को वह अपने परिवार से झगड़ा कर रहा था। सारांश की बिल्डिंग में ठीक नीचे पहली मंजिल पर रहने वाले विक्की ने इसका विरोध किया तो उस पर चाकू से हमला कर दिया। बीच-बचाव कराने गए रिक्की को भी चाकू मार दिए गए। पुलिस के मुताबिक विक्की अपने परिवार के साथ बी-ब्लॉक, जीडी कॉलोनी, गाजीपुर में पहली मंजिल पर रहता था। इसके परिवार में मां के अलावा बहन पलक, पत्नी मोनिका, दो बेटे व आठ माह की बेटी, छोटा भाई रिक्की व उसकी पत्नी रिंकी है। मोनिका व रिंकी सगी बहनें है। इसी बिल्डिंग में दूसरी मंजिल पर सारांश का परिवार रहता है।


सारांश के परिवार में पिता प्रदीप, मां बॉबी, भाई अपूर्व व अन्य सदस्य हैं। विक्की साप्ताहिक बाजार में मोबाइल का जुड़ा सामान बेचने का काम करता था। मंगलवार देर रात करीब 11.30 बजे वह परिवार के साथ खाना खा रहा था। इस बीच सारांश ने घर में झगड़ा शुरू कर दिया। वह जोर-जोर से गाली-गलौज करने लगा। हंगामा हुआ तो विक्की ऊपर सारांश के घर पहुंचा और शोर-शराबा न करने के लिए कहने लगा। उसने कहा कि घरों में महिलाएं हैं गाली-गलौज न करे। इस बात पर सारांश और उसका पिता भड़क गए। आरोप है कि पिता प्रदीप ने विक्की को पकड़ा और सारांश ने उसके सीने और हाथ में चाकू के कई वार कर दिए।

भाई के चिल्लाने की आवाज सुनकर रिक्की वहां पहुंचा तो उस पर भी चाकू से हमला कर दिया गया। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए। घायलों को पीसीआर की मदद से अस्पताल ले जाया गया, जहां विक्की को मृत घोषित कर दिया गया। रिक्की का इलाज जारी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को जीडी कालोनी से दबोच लिया। प्रदीप सुरक्षा गार्ड की नौकरी करता है जबकि सारांश बेरोजगार है। बुधवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद विक्की का शव परिवार के हवाले कर दिया है। पुलिस इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रही है कि हत्या के मामले में सारांश के बाकी परिजनों का हाथ है या नहीं। सीसीटीवी कैमरों से पड़ताल की जा रही है।

Read MoreRead Less
Next Story