मध्यप्रदेश में अमरकंटक एक्सप्रेस में लगी आग, लपटों से घिरे सरपट दौड़े ट्रेन के एसी कोच

मध्यप्रदेश में अमरकंटक एक्सप्रेस में लगी आग, लपटों से घिरे सरपट दौड़े ट्रेन के एसी कोच

अमरकंटक एक्सप्रेस के पहियों में घर्षण के कारण धुंआ निकलने लगा। घटना मिसरोद और मंडीदीप के बीच की बताई जा रही है। मिसरोद स्टेशन के आगे जब गाड़ी बढ़ी तो गार्ड ने पहियों से धुंआ निकलते देखा।राजधानी भोपाल से बड़ी खबर सामने आई है। अमरकंटक एक्सप्रेस में आग लग गई। आग एसी कोच के निचले हिस्से में लगी। यह हादसा मिसरोद और मंडीदीप स्टेशन के बीच हुआ। हादसे के बाद यात्री दहशत में आ गए। बताया जाता है, यह आग बी-तीन और बी-चार एसी कोच के नीचे लगी थी। उसके बाद फायर इस्टिंग्यूशर से इसे बुझाया गया। आग की घटना के बाद रेलवे ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

बता दें कि ट्रेन में सवार यात्रियों में से किसी एक ने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया अकाउंट में अपलोड कर दिया। अमरकंट एक्सप्रेस छत्तीसगढ़ के दुर्ग और मध्यप्रदेश के भोपाल के बीच चलती है। इसके दुर्ग और भोपाल के अलावा 27 अन्य हॉल्ट हैं।

ऐसा हादसा शहडोल में भी हुआ था

इससे पहले 27 जून को मध्यप्रदेश के शहडोल भी रेल हादसा हुआ था। यहां स्टेशन से लगे यार्ड में मालगाड़ी के चार डिब्बे पटरी से उतर गए थे। कुछ कोच बगल में खड़ी एक दूसरी मालगाड़ी से भी टकरा गए थे। हादसे के बाद ट्रैक की चार लाइन प्रभावित हो गई थी। हालांकि, इस हादसे से पैसेंजर ट्रेन प्रभावित नहीं हुई। घटना में किसी को भी किसी भी तरह की चोट नहीं आई। यह ट्रेन कोयला भरकर छत्तीसगढ़ के परसा से राजस्थान जा रही थी। हादसे के बाद रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे और पलटे हुए वैगन को हटाया।

गौरतलब है कि पिछले साल अप्रैल महीने में भी शहडोल रेलवे स्टेशन के पास बड़ा रेल हादसा हो गया था। शहडोल रेलवे स्टेशन से नौ किमी दूर सिंहपुर स्टेशन है। इस स्टेशन के पास दो मालगाड़ियां आपस में टकरा गईं थीं। हादसे के वक्त एक ट्रेन में आग भी लग गई थी। यह हादसा इतना भीषण था कि एक इंजन के ऊपर दूसरी ट्रेन का इंजन चढ़ गया था। हादसे में इसे चला रहे मोटरमैन की भी मौत हो गई थी।

Read MoreRead Less
Next Story