पूरे परिवार की हत्या, तीन की लाश घर में, चौथी लाश ट्रैक पर मिली

मध्य प्रदेश के सतना शहर से मां और दो बच्चों की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आ रहा है। प्रारंभिक जांच के मुताबिक यहां नजीराबाद इलाके में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई। मरने वालों में पति-पत्नी और दो बच्चे शामिल है।

हत्या की खबर मिलते ही पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता, सीएसपी महेंद्र प्रताप सिंह, फॉरेंसिक वैज्ञानिक डॉक्टर महेंद्र सिंह और सिटी कोतवाली टीआई शंखधर द्विवेदी पुलिस फोर्स साथ मौके पर पहुंच गई। बारीकी से मौका-मुआयना किया।

एसपी आशुतोष गुप्ता ने बताया कि नजीराबाद में चंदा प्रजापति के मकान में एक दिन पहले रहने आए संगीता चौधरी 28 वर्ष उसके बेटे निखिल चौधरी 8 वर्ष व रितिक चौधरी 6 वर्ष के रक्त रंजित शव कमरे में मिले। तीनों के गले और सर पर धारदार हथियार से वार किए गए थे। कुछ देर बाद तिघरा रेलवे फाटक में पति राकेश चौधरी 30 वर्ष का शव रेलवे ट्रैक में मिला।

प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि राकेश ने पहले अपने पत्नी व दोनों बेटों की निर्मम तरीके से हत्या की फिर खुद रेलवे ट्रैक में जाकर ट्रेन से कट गया। वारदात मंगलवार रात 10 से 12 बजे के बीच की हो सकती है। पुलिस ने पति पत्नी के दोनों बेटों के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। राकेश समीपी तिगरा गांव का ही रहने वाला है जहां से उसका शव मिला है। हत्याकांड की खबर मिलते ही मृतका के मायके के लोग भी मौके पर पहुंचे।

एसपी आशुतोष गुप्ता ने बताया कि राकेश चौधरी और उसकी पत्नी मंगलवार सुबह ही चंदा प्रजापति के यहां आए और एक दिन के लिए कमरा मांगा। राकेश की पत्नी संगीता की चंदा प्रजापति से मजदूरी के दौरान दोस्ती हुई थी इसलिए उसने कमरा दे दिया था। कमरा लेने के बाद दोनों बच्चों को वहीं रख दोनों किराए का मकान ढूंढने निकल गए थे।

शाम को जब लौटे तो सब कुछ सामान्य लग रहा था। रात 11 के बाद कमरे से आवाज आना बंद हो गई थी। कमरा किराए पर देने वाली चंदा ने बताया कि उसे रात में कुछ पता नहीं चला वह जल्दी सो गई थी। सुबह 6 बजे जब उठी तो दरवाजा बाहर से बंद था और जब धक्का दिया तो अंदर का नजारा देखकर रूह कांप गई। कमरे में फर्श पर मां और बेटों के खून से लथपथ शव पड़े हुए थे।

मौके पर पहुंचे एसपी आशुतोष गुप्ता ने बताया कि मामला संदिग्‍ध है। हर बिंदु को ध्‍यान में रखकर जांच की जा रही है। आरोपियों ने धारदार हथियार से चारों की हत्‍या की है। संगीता चौधरी के साथ ही उसके दो बेटों निखिल और ऋषभ चौधरी को भी मौत के घाट उतार दिया गया है। पति राकेश चौधरी का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला था। पुलिस को मृतक का मोबाइल मिला है लेकिन हत्या जिस हथियार से की गई वह नहीं मिला।

सतना के पास ग्राम तिघरा के रहने वाले राकेश चौधरी सतना में रहकर मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण करता था। मंगलवार 9 जून को ही यह परिवार नजीराबाद में रहने के लिए आया था। एसपी आशुतोष गुप्ता भी घटना स्थल पर पहुंचे हैं। मौत का कारण सामने नहीं आया है। पुलिस जांच कर रही है।

Read MoreRead Less
Next Story