नीम की पत्तियां चबाने से दूर होंगी ये बीमारियां

नीम की पत्तियां चबाने से दूर होंगी ये बीमारियां
नीम के औषधीय गुण क्या है

नीम, जो देश के हर हिस्से में पाया जाता है. इस पेड़ की पत्तियों से लेकर टहनियां भी हमारे बड़े काम आ सकती हैं. नीम की पत्तियों का औषधीय उपयोग लगभग हजारों वर्षों से होता आ रहा है. बता दें कि नीम की पत्तियों का सेवन शरीर की अलग-अलग बीमारियों को दूर कर सकता है. यदि आप सुबह-सुबह खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन करते हैं या फिर इन्हें पानी में उबाल कर नमक के साथ खाते हैं, तो आपको कई बीमारियों से निजात पाने में मदद मिल सकती है. जानें कौन-सी हैं ये बीमारियां.

सुबह-सुबह खाली पेट नीम की पत्तियां खाने से आपके शरीर को कई फायदे मिलते हैं. नीम की पत्तियों में प्राकृतिक गुण होते हैं, जो शरीर में पहुंचकर इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करते हैं. अगर आप नियमित रूप से नीम की पत्तियां चबाकर पानी पीते हैं या फिर पानी में उबालकर पत्तियों का सेवन करते हैं, तो आपको नेचुरल इम्यून बूस्टर मिल सकता है.

कई तरह के इंफेक्शन से रखती हैं दूर

आयुर्वेद में नीम का उपयोग एक एंटी बायोटिक के रूप में भी किया जाता है, जो सामान्य प्रकार के संक्रमण को रोकने में उपयुक्त होता है. सुबह-सुबह रोजाना नीम की पत्तियां खाने से चबाने पर आपको यूरेथा यानी मूत्रमार्ग और आंखों के इंफेक्शन में काफी लाभ मिलता है. इतना ही नहीं नीम पित्त और कफ को कम करने का भी काम करता है. नीम की ब्लड प्यूरीफायर, एंटी बैक्टीरियल, एंटी ऑक्सीडेंट खूबियां इसे एक्जिमा, सोरायसिस जैसे अनेक त्वचा विकारों में फायदेमंद बनाती है.

ब्लड शुगर लेवल को रखती हैं नियंत्रित

आज के समय में खराब जीवनशैली के कारण भारत में लगातार डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ रही है. हालांकि, लोग अभी भी घरेलू नुस्खों पर विश्वास करते हैं. इन्हीं घरेलू नुस्खों में से एक है नीम की पत्तियों को सुबह-सुबह खाली पेट चबाना. ऐसा करने से रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने में मदद तो मिलेगी, साथ ही आपका खून भी साफ होगा. स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें, तो नीम की पत्तियों में एजाडिरेक्टिन नामक तत्व मौजूद होता है. यह ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में काफी प्रभावशाली होता है.

पेट की सेहत के लिए फायदेमंद

नीम सिर्फ त्वचा के लिए ही नहीं, बल्कि पेट से जुड़ी परेशानियों के लिए भी काफी लाभकारी है. इसमें मौजूद पित्तनाशक गुण एसिडिटी में बेहद उपयोगी होते हैं. अगर आप सुबह-सुबह के वक्त में खाली पेट नीम की पत्तियों को पानी में उबाल कर पीते हैं, तो पेट से जुड़ी विभिन्न समस्याओं जैसे-कब्ज, पेट दर्द, आंतो में मौजूद कीड़ों को बाहर निकालने में काफी सहायता मिल सकती है. पेट की सेहत के लिए नीम की पत्तियां काफी कारगर होती हैं.

तेज बुखार में औषधी की तरह करती हैं काम

नीम की पत्तियां कई मौसमी बीमारियों में भी लाभकारी होती हैं. बरसात का मौसम हो या उसके बाद फैलने वाली बीमारियां जैसे-चिकनगुनिया, डेंग और मलेरिया. इन सभी बीमारियों में नीम की पत्तियां काफी फायदेमंद होती हैं. मलेरिया और डेंगू दोनों में तेज बुखार आता है. इस तरह के बुखार को ठीक करने में नीम की पत्तियां औषधी की तरह काम करती हैं. कई अध्ययनों से पता चला है कि इसकी पत्तियों में स्थित गेंडनिन नाम का यौगिक मलेरिया के तेज बुखार को कम करने में कारगर साबित हुआ है.

Read MoreRead Less
Next Story