चौमूं में बनी सहमति, सरकार देगी 50 लाख की सहायता, दो को संविदा नौकरी

चौमूं में बनी सहमति, सरकार देगी 50 लाख की सहायता, दो को संविदा नौकरी

जयपुर। जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में जयपुर के 4 लोगों की मौत के बाद राजधानी और चौमूं में माहौल गरमा गया। लोग आतंकी हमले के खिलाफ हजारों की संख्या में जयपुर की मुरलीपुरा कॉलोली और चौमूं में लोग सड़कों पर उतर आए और सरकार से आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की। हालांकि, चौमूं में सुबह 10.30 बजे शुरू हुआ आंदोलन शाम 4 बजे जिला प्रशासन की ओर से मिले आश्वासन के बाद समाप्त हो गया है। सरकार मृतक के आश्रितों को 50 लाख रुपए मुआवजा और दो जनों को संविदा नौकरी दी जाएगी। साथ ही एक डेयरी बूथ भी अलॉट किया जाएगा।

हीं, जयपुर में अभी जिला प्रशासन और मृतकों के परिजनों के बीच सहमति नहीं बन पाई है। हालांकि, माना जा रहा है कि जल्द ही सहमति बन जाएगी। इसे लेकर बातचीत जारी है। जल्दी ही मांगों को लेकर बनी सहमति पर घोषणा कर दी जाएगी। उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में राजस्थान के चार लोगों की मौत हो गई थी। हमले में एक दो साल के बच्चे की भी मौत हो गई थी। चारों के शव आज सुबह ट्रेन्रसे जयपुर जंक्शन पहुंचे। परिजनों के अलावा बड़ी संख्या में लोग स्टेशन पहुंचे थे। शवों के पहुंचने की सूचना मिलते ही राजधानी जयपुर में हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए।

लेगों ने आतंकवाद के खिलाफ नारेबाजी करने के साथ ही पाकिस्तान मुरदाबाद के नारे भी लगाए। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए एहतियातन भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया हुआ है। वहीं चौमूं के पांच्यावाली ढाणी से हजारों की संख्या में लोगों ने आज सुबह रैली निकाली। इस रैली में लोगों में आतंकवाद को लेकर आक्रोश जाहिर किया। यह रैली चौमूं पहुंची। यहां पर भारी संख्या अभी भी लोगों की ओर से विरोध प्रदर्शन किया गया। ढांणी के लोग भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गए। विरोध प्रदर्शन के चलते लोगों ने दुकानें बंद करवा दी, सड़कों पर जाम लगा दिया और बसों में तोडफ़ोड़ की। जाम को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

Read MoreRead Less
Next Story