पेड़ से हमारी सांस, संस्कृति और संबंधों की सार्थकता है-फूलसिंह मीणा

उदयपुर, । आषाढ़ के मास और बेड़च नदी की गोद में डेढ़ हजार पेड़ लगाए जाएंगे। जिले के भोइयों की पंचोली में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण महाअभियान के तहत पौधरोपण सहित पौध वितरण किया गया। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भोइयों की पचोली में महाराणा प्रताप द्वारा लिखवाई “विश्व वल्लभ : वृक्षायुर्वेद“ शास्त्र के निर्देशानुसार हुए इस आयोजन में उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, पूर्व प्रधान तख्तसिंह शक्तावत, हिम्मतसिंह देवड़ा, अमृतलाल मेनारिया और मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी कुंजबिहारी भारद्वाज ने वैज्ञानिक रूप से तैयार किए गए गड्ढों में पौधे लगाए और लगाए गए पौधों की प्राणपण से सुरक्षा करने का संकल्प दिलाया। समारोह में विधायक श्री मीणा ने सबका आह्वान किया कि हर एक पेड़ प्राणी के लिए बड़े महत्व का है। किसी पेड़ का बचना मनुष्य समाज का बचना है। पेड़ से हमारी सांस, संस्कृति और संबंधों की सार्थकता है। संस्था प्रधान देशपाल सिंह शेखावत ने गिरवा में पंचोली की सब्जी, फूल और फल उत्पादन के क्षेत्र में महत्ता बताई और कहा कि यह गांव हर अंकुर और पेड़ का महत्व समझता है। यहां का बच्चा बच्चा पेड़ की सुरक्षा समझेगा और हर पेड़ की कुल्हाड़ी, आग और आंधी से रक्षा करेगा।

उल्लेखनीय है कि इस विद्यालय द्वारा पौधरोपण का बड़ा संकल्प किया गया है। आषाढ़ के शुक्ल पक्ष, नक्षत्र, राशि, करण, तिथि और देव तथा दिशा सम्मत फल और फूल वाले बड़े और पनपे हुए पेड़ लगाए जाएंगे। बेटियां विशेष रूप से हरसिंगार, सप्तपर्णी, सीता अशोक, आशापालक, अनार, कदम्ब, नारियल, बिल्व, नीम आदि का रोपण करेंगी। विद्यालय के हरि सिंह राजावत, तरुण कुमार शर्मा, राजकुमारी खाब्या आदि ने पेड़ों के अनेक प्रसंग सुनाए।

Read MoreRead Less
Next Story