तन की शुद्धि, मन की शुद्धि, आत्मा की शुद्धि पर कार्यशाला का आयोजन

तन की शुद्धि, मन की शुद्धि, आत्मा की शुद्धि पर कार्यशाला का आयोजन

उदयपुर,। रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर मीरा की ओर से गुरुवार को 100 फीट रोड स्थित शुद्धि विला सभागार में ‘‘भोजन ही दवा है’’ मिट्टी, पानी, धूप हवा सब रोगों की यही दवा विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। रोटरी मीरा अध्यक्षा प्रीति सोगानी ने बताया कि रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर मीरा की ओर से तन की शुद्धि, मन की शुद्धि, आत्मा की शुद्धि सहित कई विषयों पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। सोगानी ने बताया कि यह कार्यशाला महिने में दो दिन पूरे वर्षभर में 24 कार्यशालाएं आयोजित की जाएगी। जिसमें सभी प्रकार की थेरेपी के बारे में बताया जाएगा। कार्यक्रम संयोजिका डॉ. रेखा सोनी एवं सचिव नीलम दूबे ने बताया कि कार्यक्रम में भोजन ही दवा है, और हर असाध्य बीमारी को भोजन के द्वारा ठीक करने की प्ररेणा दी गई। ज्यूस कैसे फायदा करता है और कितना नुकसान है इस पर जानकारी दी गई। साथ ही सात्विक भोजन के बारे में जानकारी दी कि हमे किस प्रकार का भोजन करना चाहिए जिससे हमारे शरीर में नुकसान न होकर फायदा हो। डॉ. रेखा सोनी ने कहां कि हर घर में एक डॉक्टर हो जो अपने परिवार एवं कम्युनिटी को स्वस्थ्य रखने में योगदान दे। उन्होनें बताया कि हर सेशन में दो लक्की ड्रॉ निकाले जाएंगे । जिन्हे तीन दिन का शोभागपुरा स्थित शुद्धि विला का नि:शुल्क पैकेज मिलेगा। पहली कार्यशाला में कविता बल्दवा एवं मीरा मजमूदार लक्की विजेता रही। कार्यक्रम का शुभारंभ महिला सदस्यों के मंगलाचरण से हुआ। स्वागत उद्बोधन अध्यक्षा प्रीति सोगानी ने दिया। धन्यवाद सचिव नीलम दूबे ने ज्ञापित किया। इस अवसर पूर्व अध्यक्षा विजयलक्ष्मी गलूंडिया, मीरा मजूमदार, वीना सनाढ्य, कविता बल्दवा, कविता श्रीवास्तव, कुसुम माथुर, कुसुम मेहता, डॉ. मधु सरिन, डॉ. विमला धाकड़, स्नेहा शर्मा, उर्मिला जैन, हर्षा कुमावत, मोनिका सिंघटवाडिया आदि मौजूद रहे।

Read MoreRead Less
Next Story