चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, राजसमंद व उदयपुर जिले में पेयजल के लिए होगा उपयोग

उदयपुर लोकसभा सांसद डॉ. मन्नालाल रावत की पहल पर राज्य सरकार की ओर से टीएसपी क्षेत्र को 3 हजार 530 करोड़ रुपए की जाखम बांध आधारित पेयजल परियोजना की बड़ी सौगात दी गई है। बुधवार को राज्य विधानसभा में पेश बजट भाषण में उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी ने इसकी घोषणा की। इस परियोजना का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि अब जाखम बांध पूरा भरने के बाद उसका जो बरसाती पानी ओवरफ़्लो हो व्यर्थ बहकर गुजरात के रास्ते समंदर में चला जाता था। अब उस पानी को जयसमंद झील में ले जाया जाएगा। जाखम से जयसमंद तक पंहुचने वाले इस पानी का चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, राजसमंद व उदयपुर जिले में पेयजल के लिए उपयोग में लिया जा सकेगा।

उल्लेखनीय है कि सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने इस पेयजल परियोजना को तैयार करा स्वीकृति दिलाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक रखी थी। लोकसभा चुनाव के लिए 26 अप्रैल को मतदान सम्पन्न होने के अगले ही दिन से उन्होंने प्रबुद्धजनों से इस बारे में चर्चा शुरू कर दी थी। मूलतः टीएसपी क्षेत्र के धरियावद क्षेत्र के निवासी सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने इस पीड़ा को बहुत अच्छे से महसूस किया था कि जयसमंद झील, जिसकी गहराई व भराव क्षमता काफी अधिक है। वर्षा काल बीत जाने के बावजूद खाली रह जाती है, जबकि जाखम बांध व माहीडेम भरने के बाद वहां का अतिरिक्त पानी ओवरफ़्लो होकर व्यर्थ बह कर समंदर में चला जाता है।

अरावली विचार मंच की बैठक में तैयार हुआ प्रस्ताव

डॉ. रावत के निर्देशन में नवगठित अरावली विचार मंच की बैठक में इस बारे में विषय-विशेषज्ञों से चर्चा कर प्रस्ताव तैयार किया गया। सांसद डॉ. रावत ने जल संसाधन विभाग के एसीएस सहित आला अधिकारियों के साथ कई बैठकें कर उक्त परियोजना पर गहन विचार-विमर्श किया। अधिकारियों ने इस प्रस्ताव को सार्थक बताते हुए मूर्त रूप देने की आवश्यकता बताई। चुनाव जीतने के बाद पहली बार दिल्ली पहुंचे सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित प्रदेश के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा को इस परियोजना के प्रस्ताव से अवगत कराया। मुख्यमंत्री श्री भजनलाल भी इस प्रस्ताव से काफी प्रभावित हुए। उन्होंने राजस्थान स्टेट हाउस में सांसद डॉ. मन्नालाल रावत के साथ बैठक कर परियोजना को पूरी तरह समझा। मुख्यमंत्री ने सांसद रावत को उसी समय आश्वस्त कर दिया था कि वे इस प्रस्ताव को शीघ्र स्वीकृत कराने का पूरा प्रयास करेंगे और यह आश्वासन आज पूरा हुआ।

अरावली विचार मंच ने बजट प्रस्तावों पर चर्चा के दौरान रखा था प्रस्ताव

अरावली विचार मंच ने गत माह 18 जून को जयपुर में बजट प्रस्तावों पर विचार के लिए आयोजित बैठक में सांसद डॉ मन्नालाल रावत के निर्देशन में जाखम का पानी जयसमंद झील में लाने के लिए तैयार की गई परियोजना का प्रस्ताव मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा व उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी व वित्त विभाग के प्रमुख आईएएस अधिकारियों के समक्ष रखा था। मंच के संयोजक चंद्रगुप्त सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने उन्हें विस्तार से परियोजना के बारे में बताया था। मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री ने प्रस्ताव को प्राथमिकता के आधार पर स्वीकार करने की बात कही थी।

पीएम, सीएम व डिप्टी सीएम का जताया आभार

सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसद का टिकट दिए जाने के साथ ही टीएसपी क्षेत्र के सर्वांगीण विकास में हर संभव सहयोग के लिए आश्वस्त किया था। जाखम का पानी जयसमंद झील में लाने सम्बन्धी प्रस्ताव से प्रधानमंत्री को भी अवगत कराया था। उन्होंने इस प्रस्ताव को टीएसपी क्षेत्र के लिए आवश्यक व लाभदायक बताया। यह हर्ष का विषय है कि मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा व उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी ने इस परियोजना के महत्व को समझा। टीएसपी क्षेत्र को वरीयता देते हुए जनभावनाओं के अनुरूप अपने पहले ही बजट में इस परियोजना को शुरू करने की घोषणा की। इस सौगात के लिए सांसद रावत ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री श्री भजनलाल शर्मा व उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी का आभार जताया।

Read MoreRead Less
Next Story