सकल जैन समाज के 1008 यात्री ट्रेन से जायेंगे सम्मेद शिखर

सकल जैन समाज के 1008 यात्री ट्रेन से जायेंगे सम्मेद शिखर
राज्यपाल गुलाबचंद कटारिया व शहर विधायक ताराचंद जैन यात्रा में होगें शामिल

उदयपुर। सामाजिक संस्था श्री महावीर युवा मंच संस्थान उदयपुर द्वारा 18 मई को सकल जैन समाज की स्पेशल वातानुकुलित टै्रन उदयपुर से 1008 यात्रियों को लेकर प्रात: 6 बजे उदयपुर सिटी स्टेशन से अयोध्या, काशी विश्वनाथ, श्री सम्मेद शिखर एवं उज्जैन महाकाल कोरिडोर के लिए रवाना होगी।

प्रेस वार्ता में संस्था के मुख्य संरक्षक राजकुमार फत्तावत ने बताया कि यात्रा की तैयारियां पूर्ण कर ली गई। यात्रा में संघपति के रूप में शहर विधायक ताराचंद जैन तथा सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष शांतिलाल वेलावत व सम्मेद शिखर में तीन दिन आसाम के राज्यपाल गुलाबचंद कटारिया यात्रा में शामिल होंगे। जिसमें यात्रा मुख्य संयोजक संजय भण्डारी व सह संयोजक श्याम नागौरी, सुधीर चित्तौड़ा, मनीष गलंूडिया, राजकुमार गन्ना, भूपेन्द्र गजावत के नेतृत्व में भिन्न-भिन्न समितियां तैयारियों का अंतिम रूप देने में जुटी हुई है। इस हेतु सभी कोचों के नाम जैन धर्म तीर्थंकर परम्परा के अनुरूप दिए गए है। यात्रियों की सुविधा के लिए सभी को कोच एवं सीटों का आंवटन तथा अयोध्या, सम्मेद शिखर व उज्जैन में आवास व्यवस्था का आवंटन का कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। फत्तावत ने सभी यात्रियों को समय से एक घंटे पूर्व उदयपुर सिटी स्टेशन पर आने का आव्हान किया।

ये होंगे सभी कोचों के नाम

यात्रा मुख्य संयोजक संजय भण्डारी ने बताया कि सभी कोचों का नामकरण किया गया है जिसे पाश्र्वनाथ कोच, शांतिनाथ कोच, नेमिनाथ कोच, आदेश्वर कोच, धर्मनाथ कोच, कुंथुनाथ कोच, अनन्तनाथ कोच, वासुपूज्य कोच, अभिनन्दन कोच, अजितनाथ कोच, चन्द्रप्रभु कोच, महावीर कोच व संभवनाथ कोच के रूप में जाना जाएगा। प्रत्येक कोच पर तीन-तीन प्रभारी बनाए गए है जो अपने-अपने कोच के यात्रियों की सम्पूर्ण व्यवस्था का दायित्व निभाएंगे। साथ ही सभी यात्रियों के ठहरने के लिए सभी स्थानों पर एसी रूम आरक्षित किए है। जिसमें अधिकतम तीन या चार यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था होगी। रेल्वे स्टेशन से प्रवास स्थल तक सुचारू यातायात व्यवस्था भी की गई है।

सभी यात्रियों को मिलेंगे यात्रा किट

यात्रा सह संयोजक श्याम नागोरी व सुधीर चित्तौड़ा ने बताया कि सभी यात्रियों को यात्रा किट व सम्मेद शिखर तीर्थ की सुन्दर तस्वीर फ्रेम सहित दिया जाएगा तथा टे्रन के सभी कोचों पर नाम, यात्रियों को दी गई सीट के आंवटन के बेनर लगाए जाएंगे। जिससे यात्रियों को अपनी सीट ढुंढऩें में सुविधा मिलेगी। चित्तौड़ा ने बताया कि यात्रा में प्राथमिक चिकित्सा की सुविधा के लिए सभी आवश्यक दवाईयां व उपकरण भी साथ लिए गए है तथा डॉ. विमल कावडिय़ा भी यात्रा में हमारे यात्री के रूप में मौजूद रहेंगे जिनकी सेवाएं भी आपातकाल में प्राप्त होगी।

अलग-अलग ड्रेस कोड से निखरेगी अनुठी छटा

संस्थान के अध्यक्ष अशोक कोठारी व महामंत्री विजयलक्ष्मी गलूंडिया ने बताया कि सभी तीर्थों के लिए डे्रस कोड निर्धारित किया है जिसमें अयोध्या में केसरिया, काशी विश्वनाथ में गुलाबी (पिंक), श्री सम्मदे शिखर में श्वेत व उज्जैन महाकाल में नीलें रंग के परिधान व सभी यात्रियों के गले में आईडी कार्ड तथा सिर पर श्वेत टोपी अलग ही छटा निखारेंगी। 21 मई को श्री सम्मेद शिखर तीर्थ के सिद्धायतन बैंकेट हॉल में भव्य भक्ति संध्या व सम्मान समारोह का आयोजन राज्यपाल कटारिया के आतिथ्य में आयोजित होगा।

वाट्सएप ग्रुप से होगा कोर्डिनेट

यात्रा सह संयोजक मनीष गलूंडिया व भूपेन्द्र गजावत ने बताया कि सभी यात्रियों की सुविधा के लिए सभी कोचों के अलग-अलग वाट्सएप गु्रप बनाए गए है। जिसके माध्यम से समय-समय पर यात्रा सम्बन्धित सूचना प्रेषित की जाएगी।

तरह-तरह लजीज व्यंजनों युक्त भोजन सुविधा

भोजन व्यवस्था संयोजक राजकुमार गन्ना ने बताया कि यात्रियों को यात्रा के दौरान तरह-तरह लजिज व्यंजन के लिए सुरत के हीरजी भाई व उसके 150 केटर्स की टीम उदयपुर पहुंच चुकी है। जो अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटी हुई। भोजन में प्रतिदिन पांच स्वीट्स, एक ब्रेकफास्ट में व दो-दो लंच-डिनर में दी जाएगी।

Tags

Read MoreRead Less
Next Story