ग्रीष्मकालीन बाल-नाट्य एवं लोक-नृत्य कार्यशाला का आयोजन

उदयपुर। बच्चों में निहित कला प्रतिभा को मुखरित करने तथा ग्रीष्मावकाश के सदुपयोग के उद्देश्य से पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, उदयपुर द्वारा शिल्पग्राम में लोक-नृत्य एवं बाल-नाट्य कार्यशाला का आयोजन दिनांक 1 से 20 जून 2024 तक किया जायेगा।

केन्द्र निदेशक श्री फुरकान खान ने इस आशय की जानकारी देते हुए बताया कि ग्रीष्मावकाश में बच्चांे को रचनात्मक प्रवृति की ओर मुखरित करने तथा उनमें छुपी कलात्मक प्रतिभा को अभिव्यक्त करने के लिए मंच प्रदान करने के उद्देश्य से केन्द्र द्वारा दिनांक 1 जून 2024 से शिल्पग्राम में 9 से 16 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए बाल-नाट्य एवं लोक-नृत्य कार्यशाला का आयोजना किया जा रहा है।

उन्होंने बताया की वरिष्ठ रंगकर्मी एवं राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से स्नातक श्री मनोहर तेली एवं वरिष्ठ लोक-नृत्य प्रशिक्षिका श्रीमती विजयलक्ष्मी आमेटा द्वारा बच्चों को बाल-नाट्य एवं लोक-नृत्य की बारीकियों के बारे में प्रशिक्षण दिया जावेगा। साथ ही कार्यशाला के दौरान बाल-नाट्य एवं लोक-नृत्य की कृतियॉ तैयार की जावेगी जिनका प्रदर्शन समापन अवसर पर किया जावेगा। समापन 21 जून 2024 को दर्पण सभागार शिल्पग्राम में किया जावेगा। केन्द्र के कार्यक्रम अधिकारी श्री पवन अमरावत ने बताया कि प्रवेश हेतु पंजियन शुल्क 200/- रू. मात्र निर्धारित किया गया है। कार्यशाला में प्रवेश पहले आओ पहले पाओ के आधार पर किया जावेगा। इच्छुक बच्चे निर्धारित फॉर्म केन्द्र से तथा केन्द्र की वेब साईट www.wzccindia.com से प्राप्त कर सकते है।

Tags

Read MoreRead Less
Next Story