boltBREAKING NEWS

हम देखेंगे

हम देखेंगे

नमन-मगसम पटल कोटा

 
*इन नंगी आँखों से देखा,*
*देख रहे हम देखेंगे/*
*कुशासन भृष्ट राजतंत्र को,*  
*हम उखाड़ कर फैकेंगे//*

दीमक बन चाट रहे हो जी,
सबकी गाढ़ी कमाई जी/
नित मुल्क बिक रहा भाई जी,
कौन करे भरपाई जी//

जागो बेटों भारत माँ की,
लाज को लुटते देखेंगे/
नाकारा बेटों को  विदेशी,
हाथों पिटते देखेंगे//
       
*इन नंगी आँखों से देखा,*
*देख रहे हम देखेंगे/*
*कुशासन भृष्ट राजतंत्र को,*  
*हम उखाड़ कर फैकेंगे//*

नैतिक सोच व कृत्य में देखो,
खूब गिरावट आई है/
विरोधियों को सबक सिखाने,
ईडी जाँच कराई है//

न बाहरी खतरा आतंकी,
भीतर कबतक झेलेंगे/
मजलूमों के दिल से आका,
रोज खुले में खेलेंगे//

*इन नंगी आँखों से देखा,*
*देख रहे हम देखेंगे/*
*कुशासन भृष्ट राजतंत्र को,*  
*हम उखाड़ कर फैकेंग